Breaking News उत्तराखंड

आल वैदर रोड से जोशीमठ को जोड़े रहने पर अड़ी जनता, बाईपास के विरोध में दिया धरना

dharna in uttarakhand आल वैदर रोड से जोशीमठ को जोड़े रहने पर अड़ी जनता, बाईपास के विरोध में दिया धरना

जोशीमठ। हेलंग-मारवाडी कट आफॅ रोड निर्माण की जनसुनवाई पूरी हुई। अपर जिलाधिकारी ने कहा कि प्राप्त आपत्तियों व सुझावो को जिलाधिकारी के माध्यम से शासन को प्रेषित कर दिया जाऐगा। इधर आल वैदर रोड से जोशीमठ को पूर्ववत जोड़े रखने की मांग को लेकर जोशीमठ बचाओ संघर्ष समिति के वैनर तले क्रकिम धरना शुरू हुआ।

जिला प्रशासन द्वारा बेहद तेजी दिखाते हुए हेलंग-मारवाडी वाईपास जैसा की जनसुनवाई से सबंधित विज्ञप्ति मे प्रकाशित है,,की जनसुनाई का कार्य भी पूरा कर लिया गया। सक्षम प्राधिकारी/अपर जिलाधिकारी चमोली एमएस बर्निया के समक्ष स्थानीय लोगो ने अनेक आपत्तिया दर्ज कराते हुए आल वैदर रोड को जोशीमठ से जोडने के लिए तीन विकल्प सुझाए गए। पहला विकल्प टीसीपी से सिंहधार होते हुए ओएमपी , दूसरा टीसीपी से चैडारी-गैस गोदाम रविग्राम होते हुए तथा तीसरी वर्ष 1963-64 मे जोशीमठ-बदरीनाथ सडक निर्माण के लिए लोनिवि द्वारा अधिग्रहित की गई भूमि से सडक निर्माण कराए जाने।

इसके अलावा स्थानीय लोगो ने जोशीमठ व नीती घाटी के सामरिक एव धार्मिक महत्व को देखते हुए आलॅ वैदर रोड को जोशीमठ से ही निर्मित किए जाने की मांग की गई।पैनखंडा संघर्ष समिति के अध्यक्ष एडवोकेट रमेश चंद सती ने ग्राम जोशीमठ की गौचर/पनघट की भूमि अधिग्रहित किए जाने व मिश्रा आयोग की रिपोर्ट को प्रस्तुत कर अपनी आपत्ति दर्ज की।

सक्षम प्राधिकारी/अपर जिलाधिकारी श्री बर्निया ने बताया कि जनसुनवाई का कार्य पूरा कर लिया गया है। जो भी आपित्तियाॅ व विकल्प आए है उनको जिलाधिकारी के माध्यम से शासन को प्रेषित किया जाऐगा। उन्होने कहा कि जोशीमठ के धार्मिक महत्व व नीती घाटी के धार्मिक एवं पर्यटन स्थलो की संभावित उपेक्षा से सबंधित प्रस्ताव को भी विचारणी विंदु मे रखा गया है। अब आगे सरकार जो भी फैसला लेगी उसी के अनुसार कार्यवाही की जाऐगी।

इधर आल वैदर रोड से जोशीमठ को जोडने की मांग को लेकर जोशीमठ बचाओ संघर्ष समिति के वैनर तले क्रमिक धरना शुरू हुआ। सघर्ष समिति के नेतृत्व मे स्थानीय लोग जुलूस की शक्ल मे नारेबाजी करते हुए तहसील प्रांगण मे पंहुचे और धरना शुरू किया। पहले दिन धरने पर बैठने वालो मे नगर पालिका के वार्ड नंबर एक गाॅधी नगर की सभासद दीपा देवी, पूर्व सभासद ललिता देवी, गुडडी देवी, रेखा देवी के अलावा नगर पालिकाध्यक्ष शैलन्द्र पंवार, पूर्व पालिकाध्यक्ष रोहणी रावत, ऋषि प्रसाद सती, भगवती प्रसाद कपरूवाण आदि मौजूद रहे।

Related posts

जुम्मे पर पड़ रही होली, मुस्लिम धर्मगुरुओं ने बदला नमाज का समय

Vijay Shrer

कश्मीर में हिंसा के पीछे सलाहुद्दीन, गिलानी : राम माधव

bharatkhabar

उत्तराखंड: 19 मई से होगा रिस्पना नदी संरक्षण के लिए स्वच्छता अभियान का आरंभ

rituraj