Breaking News देश बिहार भारत खबर विशेष राज्य वायरल

मरीजों को पहुंचाते थे निजी अस्पताल में, छापामारकर 30 को गिरफ्तार किया

arrested s मरीजों को पहुंचाते थे निजी अस्पताल में, छापामारकर 30 को गिरफ्तार किया

भुवनेश्वर। दो दिनों में पुलिस ने राज्य भर में विभिन्न सरकारी अस्पतालों के परिसर से 30 बिचौलियों को गिरफ्तार किया है। मरीजों को निजी क्लीनिकों में पहुंचाने के आरोप में गुरुवार को बुरला स्थित सरकारी अस्पताल परिसर से पांच दलालों को गिरफ्तार किया गया। “वीएसएस मेडिकल कॉलेज, बुर्ला में पांच बिचौलियों ने मरीजों धोखाध्ड़ी कर उनके इलाज में बाधा डाली। उन्हें विशिष्ट मामलों के आधार पर अदालत में भेजा जा रहा है। डीजीपी बीके शर्मा ने एक ट्वीट में कहा कि संलिप्तता की जांच ही जा रही है दोषियों को कतई बख्शा नहीं जाएगा।

संबलपुर के एसपी कंवर विशाल सिंह ने कहा कि, आरोपी निजी अस्पतालों में इलाज के लिए कुछ रोगियों और उनके परिजनों को प्रभावित कर रहे थे। वे उन्हें दवा उपलब्ध कराने के लिए पैसे भी मांग रहे थे। घटना की विस्तृत जांच जारी है और गिरफ्तारी की संख्या बढ़ सकती है।

उस दिन, पुलिस ने बालंगीर में अस्पताल परिसर से पांच बिचौलिए, भद्रक में चार, मयूरभंज में तीन, राउरकेला में चार, बालेश्वर में तीन और नबरंगपुर में दो लोगों को गिरफ्तार किया। बुधवार को राज्य सरकार द्वारा बहुप्रतीक्षित ark मो सरकार ’कार्यक्रम शुरू करने से पहले भुवनेश्वर के राजधानी अस्पताल से एक पैथोलॉजी सेंटर के मालिक और दवा प्रतिनिधि सहित चार दलालों को गिरफ्तार किया गया था।

आरोपियों की पहचान पैथोलॉजी इकाई के मालिक श्रीकांत प्रस्टी (36) के रूप में की गई थी; लक्ष्मीकांत मल्लिक (35), दवा प्रतिनिधि; प्रशांत बेहरा (35) और विभूति भूषण बिनोद (29)। रिपोर्ट में कहा गया है कि चारों बिचौलियों के रूप में काम कर रहे थे और कैपिटल अस्पताल में आने वाले भोला और गरीब मरीजों को निशाना बना रहे थे। इस तरह की कई शिकायतें सामने आने के बाद कैपिटल पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज की गई थी।

Related posts

घर के सामने खड़े होने से रोकने पर युवक को मिली ऐसी सजा

Vijay Shrer

मध्यप्रदेशःवृहद परियोजना नियंत्रण मण्डल ने 1925 करोड़ की निविदाओं को स्वीकृत मिली

mahesh yadav

बारिश ने धो दी जीत, स्कॉटलैंड नहीं कर पाया विश्व कप के लिए क्वालिफाई

lucknow bureua