September 20, 2021 10:10 pm
featured यूपी

लखनऊ: सिविल अस्पताल जाने वाले तीमारदारों को जल्‍द मिलेगी पार्किंग की सुविधा

लखनऊ: सिविल अस्पताल जाने वाले तीमारदारों को जल्‍द मिलेगी पार्किंग की सुविधा

लखनऊ: राजधानी स्थित डॉ. श्याम प्रसाद मुखर्जी (सिविल अस्पताल) में पार्किंग की व्यवस्था न होने से मरीज लेकर आने वाले तीमारदारों को वाहन खड़े करने में हो रही समस्या से जल्‍द निजात मिलेगा। इसके लिए प्रशासन तैयारियों में जुट गया है।

दरअसल, बीते दिनों बुजुर्ग दंपती की ओर से व्यवस्था को आइना दिखाने के बाद जिलाधिकारी ने समस्या के समाधान के लिए तीन सदस्यीय कमेटी बनाई थी। कमेटी ने सिविल अस्पताल के बाहर सड़क किनारे पीली पट्टी लगाने और सूचना विभाग के पुराने कार्यालय परिसर का इस्‍तेमाल करने का प्रस्ताव दिया है। पुराने सूचना विभाग के कार्यालय में पार्किंग का इंतजाम जल्द कर लिया जाएगा। हालांकि, पीली पट्टी लगाने का काम अभी कुछ दिनों बाद ही होगा और ये दोनों वैकल्पिक व्यवस्थाएं यहां पार्किंग की स्थायी व्यवस्था होने तक रहेंगी।

सड़क पर वाहन खड़े करने से लगता है जाम

सिविल अस्पताल व झलकारी बाई महिला राजकीय अस्पताल राजधानी के सबसे पॉश हजरतगंज इलाके में स्थिति हैं, लेकिन इसके बाद भी यहां वाहन पार्किंग के पुख्ता इंतजाम नहीं हैं। इससे तीमारदारों को मजबूरी में सड़क पर वाहन खड़ा करना पड़ता है। दोनों जगह सड़क पर वाहनों की भीड़ से आधी सड़क वाहनों की पार्किंग में तब्दील हो जाती है। एक तरफ के मार्ग पर पूरा यातायात बाधित रहता है।

सिविल अस्पताल की इमरजेंसी के बाहर बीते मंगलवार को बुजुर्ग की कार ठेकेदार के कर्मचारियों द्वारा क्रेन से उठा ले जाने के बाद जमकर हंगामा हुआ था। इसके बाद डीएम अभिषेक प्रकाश ने डीसीपी यातायात, एडीसीपी यातायात, एडीसीपी मध्य सहित कई जिम्मेदार अधिकारियों के साथ बैठक कर सिविल अस्पताल के पास पार्किंग के इंतताम के निर्देश दिए थे।

पीली पट्टी लगाकर बनेगी अस्‍थायी पार्किंग  

एडीसीपी मध्य के मुताबिक, सिविल अस्पताल में तीमारदारों के पार्किंग का इंतजाम न होने तक वैकल्पिक इंतजाम करेंगे। इसके तहत सड़क पर अस्पताल से सटी पीली पट्टी लगाकर उसे पार्किंग का दर्जा दिया जाएगा। इसके अंदर वाहन खड़े कराने के लिए पुलिस तैनात की जाएगी। वहीं, अस्पताल के आसपास सड़क किनारे अवैध तरीके से लगने वाले ठेले व दुकानों को हटवाया जाएगा। वहीं, गोल्फ क्लब से पार्क रोड चौराहे तक के रास्ते को वन वे करने पर भी विचार किया जा रहा है।

कमेटी ने अस्पताल का निरीक्षण कर यहां पार्किंग की व्यवस्था पर चर्चा की। वहीं, पास के सूचना विभाग के पुराने कार्यालय का भी निरीक्षण किया। एडीसीपी मध्य के अनुसार, पुराने सूचना विभाग के कार्यालय में चिकित्सकों व कर्मचारियों के वाहन खड़े कराए जा सकते हैं। इससे अस्पताल के परिसर में तीमारदारों के वाहन खड़े करने के लिए काफी जगह बच जाएगी।

Related posts

पाक विदेश मंत्री ने भारत को दी नसीहत, बोले पैलेट गन न चलाएं, संचार ब्लैकआउट रद्द करें

Trinath Mishra

पीएम मोदी देहरादून में,तो आंध्रप्रदेश के सीएम अमरावती में मना रहें योग दिवस

rituraj

सीएम योगी का पूर्वांचल दौरा, डायवर्ट हुए कई रुट

Srishti vishwakarma