featured देश

पी चिदंबरम: मोदी सरकार की कश्मीर नीति, ‘चरमपंथी नीति’

p chidambaram, modi goverment, kashmir, jammu, policy,

नई दिल्ली। एक ओर जहां कांग्रेस का आरोप है कि केंद्र ने कश्मीर पर बातचीत के सभी दरवाजे बंद कर दिये हैं। वहीं पार्टी के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने मोदी सरकार की कश्मीर नीति को चरमपंथी नीति करार दिया।

p chidambaram, modi goverment, kashmir, jammu, policy,
p chidambaram

पी. चिदंबरम ने जम्मू एवं कश्मीर में अशांति की स्थिति के लिए केंद्र को जिम्मेदार ठहराते हुए रविवार को कहा कि घाटी के लोग दो चरम स्थितियों बीच फंसे हुए हैं।
चिदंबरम ने ट्वीट किया, ‘कश्मीर घाटी के लोग दो चरम परिस्थितियों के बीच फंसे हुए हैं| केंद्र सरकार ने एक चरम रुख अपनाया हुआ है, जिससे समस्या और बिगड़ गई है, वैसे ही जैसे आतंकवादियों का रुख चरम है, जिसे खारिज करने की जरूरत है।

चिदंबरम ने लगातार पांच ट्वीट किए हैं, जिनमें उन्होंने कहा है, ‘इसका नतीजा जम्मू एवं कश्मीर के लोगों और राज्य के भविष्य को भुगतना पड़ रहा है।


चिदंबरम ने अगले ट्वीट में कहा, ‘मैंने पहले भी कई मौकों पर चेतावनी दी थी कि कश्मीर मुद्दा या समस्या (इसे जो भी नाम दिया जाए) एक नासूर बन चुका है।‘

उल्लेखनीय है कि चिंदबरम के ये ट्वीट जम्मू एवं कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती की शनिवार को केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात के बाद आए हैं।
जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने शनिवार को ही गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात कर बताया कि राज्य में बाहरी ताकतें परेशानियां पैदा कर रही हैं। महबूबा ने राज्य में कानून-व्यवस्था खासकर अमरनाथ तीर्थयात्रियों की सुरक्षा के बारे में सिंह से चर्चा के दौरान यह जानकारी दी। दोनों नेताओं की लगभग एक घंटे तक चली इस मुलाकात में कश्मीर घाटी में अशांति, अमरनाथ तीर्थयात्रियों पर हुए आतंकी हमले के बाद राज्य में कानून व्यवस्था के लिये केन्द्र सरकार की ओर से उठाए गए कदमों पर चर्चा हुई।

Related posts

कश्मीर दौरे के बाद आर्मी चीफ ने लिए बड़े फैसले

Pradeep sharma

झारखंड और कर्नाटक में महसूस किए गए भूकंम के झटके, तीव्रता 4.7 मापी गई

Rani Naqvi

सतपाल महाराज और पर्यटन सचिव मिनाक्षी सुंदरम की कवायद बदलेगी सूबे में पर्यटन की दशा

piyush shukla