WhatsApp Image 2021 01 07 at 09.30.49 शिव क्षेत्र में एक दर्जन से अधिक कौओं की मौत, बर्ड फ्लू होने की आशंका

राजस्थान के बाड़मेर में शिव क्षेत्र के गुंगा गांव में तीन दिनों में एक दर्जन से अधिक कौओं की मौत हो चुकी है. मृत कौओं को ग्रामीणों द्वारा दफ़नाया गया और कई जगह मृत कौवो को श्वान नोंच रहे हैं. सूचना के बाद भी प्रशासन बेखबर होने से ग्रामीणों में चिंता है. गुंगा गांव में तीन दिनों से अचानक एक-एक कर कौओं की मौत होने लगी है. ग्रामीण क्षेत्र होने से लोगों ने मात्र सामान्य मानकर कौओं की मौत पर ध्यान नहीं दिया. स्कूल के अध्यापक कमलकिशोर ने सरपंच को सूचना देकर वन विभाग कार्मिकों को कौओं की मौत की जानकारी दी.

इसके बावजूद कोई कार्मिक गांव में नहीं पहुंचा. गत दिनों झालवाड़ में मृत मिले कौओं के नमूने की प्राथमिक रिपोर्ट में एच-5 एवियन इन्फजुएंजा वायरस के संक्रमण की पुष्टि हुई थी. इस रोग का वायरस रोगी पक्षी की लार नाक, आंख के स्त्राव में पाया जाता है. रोगी पक्षी या संक्रमित वस्तु के सीधे सम्पर्क में आने से फैलता है. रोग के संक्रमण पर 3 या 5 दिन लक्षण दिखाई देने लगते हैं.

कई जगह पड़े मृत कौओं के शव
गुंगा व शिव गांव में तीन दिन में असामान्य मौत से करीब एक दर्जन से अधिक कौओं की मौत हो चुकी है. ग्रामीणों को जब पक्षियों में चल रहे वायरस की जानकारी लगी तो उन्हें चिंता होने लगी.

बर्ड फ्लू का खौफ
देश के कई राज्यों में बर्ड फ्लू के मामले सामने आए हैं. जिससे की लोगों में अब खौफ बढ़ने लगा है. अब तक देश के 6 राज्यों में बर्ड फ्लू के मामले सामने का चुके हैं. राजस्थान, मध्य प्रदेश और हिमाचल प्रदेश और केरल के बाद कहर बरपा रहा है. अब तक इन राज्यों में सैकड़ों पक्षियों की मौत हो चुकी है. कोरोना वायरस महामारी के बीच बर्ड फ्लू अब राजस्थान, मध्य प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, केरल और गुजरात में एक बड़ा खतरा बन रहा है. अब तक इन राज्यों में सैकड़ों पक्षियों की मौत हो चुकी है. इसके बाद से यहां की राज्य सरकारों ने हाई अलर्ट जारी कर दिया है.

रिपोर्ट- शैतान सिंह राजगुरु

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह स्वस्थ होकर लौटे उत्तराखंड, कैबिनेट मंत्रियों ने किया स्वागत

Previous article

BMC ने सोनू सूद के खिलाफ की शिकायत, जानें क्या है पूरा मामला

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured