देश भारत खबर विशेष मध्यप्रदेश राज्य

टैगोर इंटरनेशनल लिटरेचर के सफल आयोजन के बाद अंतरराष्ट्रीय समिति के अध्यक्ष बने चांसलर संतोष चौबे

Untitled 1 copy 6 टैगोर इंटरनेशनल लिटरेचर के सफल आयोजन के बाद अंतरराष्ट्रीय समिति के अध्यक्ष बने चांसलर संतोष चौबे

भोपाल। रवींद्रनाथ टैगोर विश्वविद्यालय द्वारा देश और विदेश में विभिन्न कार्यक्रमों के बीच विस्तार और कनेक्शन के लिए आयोजित टैगोर इंटरनेशनल लिटरेचर एंड आर्ट फेस्टिवल ‘विश्वरंग’ के सफल आयोजन के बाद, रवींद्रनाथ टैगोर विश्वविद्यालय के चांसलर संतोष चौबे की अध्यक्षता में एक अंतरराष्ट्रीय समिति का गठन किया गया है। इसमें लगभग 20 देशों के प्रतिनिधि शामिल होंगे जो सभी महाद्वीपों का प्रतिनिधित्व करते हैं।

इसमें मास्को (रूस) से इंदिरा गजीवा और प्रो ल्यूडमिला कखलोवा, जर्मनी, तात्याना ओरास्काया, (हैम्बर्ग), उज्बेकिस्तान, सिराज-उद-दीन नूरमातोव (ताशकंद), कजाखस्तान दरोगा कोवेवा (अल्माटी), यूरी बोटविंकिन (कीव) यूक्रेन, आर्मेनिया से रिप्साइम नर्सीस्यान (येरेवान)। श्रीलंका से गेनदी श्लोमपर (तेल अबीब), फ़िजी से, उपुल रंजीत (कालविया), सुब्रमणि (सुबा), इंग्लैंड से तेजेन्द्र शर्मा (लंदन), दिव्या माथुर (लंदन), उषा राजे सक्सेना (लंदन), ललित मोहन जोशी ( लंदन), वंदना मुकेश (नॉटिंघम), अमेरिका से जय वर्मा (बर्मिंघम)।

सुषम बेदी (न्यूयॉर्क), कविता वचनावी (डलास), रेखा मैत्रा (कैलिफ़ोर्निया), उमेश तांबी (फिलाडेल्फिया), अशोक सिंह (न्यूयॉर्क), अनूप भार्गव (न्यू जर्सी), मनीष गुप्ता (सिएटल), महेंद्र धर्मपाल (टोरंटो) , कनाडा से कुंवर (सिडनी), रेखा राजवंशी (सिडनी), ऑस्ट्रेलिया से संजय अग्निहोत्री (सिडनी), सिंगापुर से संध्या सिंह (सिंगापुर)। अर्चना पैन्यूली (कोपेनहेगन), नीदरलैंड से पुष्पिता अवस्थी (एम्स्टर्डम), रमा तक्षक, (एम्सटर्डम) से जितेंद्र चौधरी (कुवैत सिटी) होंगे।

उपरोक्त अंतरराष्ट्रीय समिति के सहयोग के लिए भारत से एक 27 सदस्यीय समूह भी बनाया गया है, जो साहित्य, संस्कृति, शिक्षा और प्रशासन के विभिन्न क्षेत्रों का प्रतिनिधित्व करता है। इस ग्रुप में संतोष चौबे (भोपाल), मुकेश वर्मा (भोपाल), बलराम गुमास्ता (भोपाल), महेंद्र गगन (भोपाल), अनुराग सेठा (भोपाल), आत्माराम शर्मा (भोपाल) लीलाधर मंडलोई (नई दिल्ली), कमल किशोर गोयनका ( नई दिल्ली), विनय उपाध्याय (भोपाल), सच्चिदानंद जोशी (नई दिल्ली), उषा गांगुली (कोलकाता), देवेंद्रराज अंकुर (नई दिल्ली), अशोक भौमिक (नई दिल्ली), रमेश चंद्र शाह (भोपाल), प्रभु जोशी (इंदौर)। सिद्धार्थ चतुर्वेदी, अदिति चतुर्वेदी, पल्लवी राव चतुर्वेदी, नितिन वत्स, विजय सिंह, नुसरत मेंढी (सभी भोपाल), अरविंद चतुर्वेदी, अभिषेक पंडित (नई दिल्ली), विनीता चैबे, पुष्पा असवाल, शशांक और मेजर जनरल (सेवानिवृत्त) श्याम श्रीवास्तव। भोपाल) को शामिल किया गया है।

विश्व रंग की समाप्ति के ठीक एक महीने बाद आयोजित आयोजन समिति की बैठक में उक्त समिति का गठन किया गया था। समिति ने अपने लिए कुछ कार्य भी निर्धारित किए हैं जैसे कि इस देश में हिंदी और भारतीय भाषाओं के प्रचार के लिए काम करना। दुनिया की गतिविधियों के लिए एक समन्वित गति देने के लिए कुछ ठोस कार्यक्रम भी बनाए गए हैं।

 

 

 

 

 

Related posts

किसानों ने मनाया विश्वासघात दिवस, कहा- केंद्र सरकार ने अभी तक पूरी नहीं कि मांग

Neetu Rajbhar

सुबह नौ बजे ही दफ्तर में मिलने लगे मंत्री, नरेंद्र मोदी की सलाह का हो रहा असर

bharatkhabar

CBI अधिकारियों के लिए आदेश जारी, CBI में ड्रेस कोड लागू करने के आदेश

pratiyush chaubey