featured यूपी

सूबे में पुलिस की खुली पोल, अय्याशी करता पकड़ा गया डायल 100 प्रभारी

Open, police, pole,district, Riotously, caught,in-charge,dial 100,

मेरठ। सरकार ने पुलिस को जनता की सुरक्षा के लिए तैनात किया है, लेकिन जब पुलिस अपने मदहोश में रहे और वह सब अपने कायदे-कानून भूल जाए तो जनता कि सुरक्षा क्या करेगी। तो देर रात भी कुछ ऐसा ही देखने को मिला है। पुलिस की डायल 100 गाड़ी के प्रभारी AK सिंह कॉलोनी में ही रहने वाली युवती डोली के साथ गाड़ी में रंगरेलियां मनाते पकड़े गए है। सब इंस्पेक्टर AK सिंह युवती डोली के साथ अपनी निजी स्विफ डिजायर गाड़ी में बैठकर शराब और कबाब दोनों का मजा ले रहे थे। काफी देर तक गाड़ी में यह सब कुछ होता देख कॉलोनी वासियों ने गाड़ी को घेर लिया और मौके पर जमकर हंगामा खड़ा कर दिया और जिसके बाद लोगों ने पुलिस को भी सूचना दी, लेकिन पुलिस के पहुंचने से पहले साहब मौके से फरार हो गए। कॉलोनी वासियों ने युवती डोली और स्विफ डिजायर गाड़ी को पुलिस के हवाले कर दिया। लेकिन पुलिस उसको थाने ना लाकर पूछताछ कर उसके घर छोड़ आई। जिसके कुछ देर रात साहब नशे की हालत में थाने पहुंच गए और थाने में अपनी वर्दी का रौब दिखाते हुए जमकर हंगामा किया।

Open, police, pole,district, Riotously, caught,in-charge,dial 100,
Riotously does caught the in-charge

यह मामला मेरठ के थाना सिविल लाइन क्षेत्र के मिशन कंपाउंड का है। जहां पर डायल 100 प्रभारी कॉलोनी में ही युवती के साथ गाड़ी में पकड़ा गया है। साहब मिशन कंपाउंड के पास गाड़ी खड़ी करके शराब पीकर युवती के साथ रंगरेलियां मना रहे थे। मोहल्ले के लोगों का कहना है, कि आए दिन आरोपी अपनी वर्दी का रोब गालिब करके युवती के साथ कॉलोनी में आकर रंगरलिया मनाया करता है। लेकिन आज कॉलोनी वासियों का गुस्सा फूट पड़ा और उन्होंने उसको उसी की गाड़ी में युवती के साथ रंगे हाथ दबोच लिया और जमकर हंगामा खड़ा किया। हालांकि मौके पर इंस्पेक्टर ने स्थानीय लोगों पर अपनी वर्दी का रौब दिखाया, लेकिन लोगों ने उसकी एक भी नहीं सुनी और उन दोनों को घेर लिया। जिसके बाद मौके पर काफी देर तक हंगामा हुआ और इंस्पेक्टर भीड़ का फायदा उठाकर मौके से फरार हो गया। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस युवती से पूछताछ कर उसे उसके घर छोड़ आई। जिसके बाद इंस्पेक्टर की हिम्मत बढ़ी और वह नशे की हालत में थाने पहुंच गया और उल्टा स्थानीय लोगों पर मारपीट का आरोप लगाने लगा। लेकिन स्थानीय लोगों ने थाने पर जमकर हंगामा किया और इंस्पेक्टर के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। पुलिस ने आश्वासन दिया कि आरोपी इंस्पेक्टर AK सिंह और युवती डोली के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। जिसके बाद स्थानीय लोग शांत हुए है। फिलहाल पुलिस इंस्पेक्टर का मेडिकल करा उसकी जांच कर रही है।

Open, police, pole,district, Riotously, caught,in-charge,dial 100,
Riotously does caught

तो वहीं स्थानीय निवासी का कहना है कि युवती डोली पहले भी काफी बार झूटे आरोपों में कई लोगों को जेल भिजवा चुकी है, और दरोगा AK सिंह पहले इसी कॉलोनी में ही किराए पर रहता था। तो अब कॉलोनी वासियों का सवाल इस बात के लिए खड़ा होता है, कि पुलिस जनता की सुरक्षा कर रही है या जनता पुलिस की? इस तरह से एक जिम्मेदार पुलिसकर्मी अपनी वर्दी के नशे में खुलेआम सड़क पर अय्याशी करें, शराब पिए, हंगामा करें तो फिर कहीं ना कहीं जनता का भरोसा पुलिस पर से खत्म होना लाजमी ही है। अधिकारियों को इस मामले को गंभीरता से लेना चाहिए और ऐसी कार्रवाई करनी चाहिए, ताकि यह पुलिस के उन लोगों के खिलाफ एक मिसाल बने जो लोग वर्दी में रहकर गलत काम कर रहे हैं। अब देखना यही है कि कागजी कार्रवाई में पुलिस क्या करती है? या कार्रवाई करती भी है कि नहीं, तथा फिर इस मामले को फाइलों में दफन कर यूंही छोड़ देगी।

Related posts

जनता ने दिया रोजगार और मंहगाई के मुद्दों पर पीएम मोदी का साथ, सर्वे में खुलासा

Rani Naqvi

अब टैक्स चोरों की खैर नहीं, आयकर विभाग का सख्त फैसला

bharatkhabar

कांग्रेस के पांच सवाल, कैसे जवाब देगी योगी सरकार

Shailendra Singh