एक और बैंक को नीरव मोदी स्टाइल में लगा 155 करोड़ रुपए का चूना, FIR दर्जा

देश में पंजाब नेशनल बैंक के बाद ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स के साथ 155 करोड़  रुपए की धाकाधड़ी का मामला सामने आया है। इतनी बड़ा रकम का चूना लगाने वाली हरियाणा की लकड़ी की एक कंपनी है। सीबीआई द्वारा दर्ज की गई एफआईआर के मुताबिक कंपनी ने तौर पर बैंक की पासबुक में उल्लेख किए बिना फंड ट्रास्फर के लिए इंचरनेशनल बैंकिंग मैसेज का इस्तेमाल करके सिंगापुर में अपनी सहायक कंपनी की स्वीकृति क्रेडिट सीमाओं में हेरफेर कर बैंक को चूना लगाया है।

 

Oriental bank Of Commerce (File Photo)

 

आपको याद हो तो इससे पहले पंजाब नेशनल बैंक को हीरा व्यापारी नीरव मोदी और मेहुल चौकसी ने भी इसी अंदाज में चूना लगाया था। जिसके बाद से नीरव मोदी बारत छोड़कर जा चुके हैं। बता दें कि इनके ग्राहकों में हॉलीवुड की अभिनेत्रियों समेत बॉलीवुड की कई नामचीन अभिनेत्रियां भी सामिल हैं।

 

अधिकारियों ने बताया कि एम.टी.पी.एल. ने आयातित लकड़ी के व्यापार और आवरण में लगे हुए स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, ओबीसी और बैंक ऑफ बड़ौदा के एक संघ से 242.09 करोड़ रुपए की क्रेडिट सुविधाओं का लाभ उठाया। बैंक को स्वीकृत नकद क्रेडिट सीमा को बढ़ाकर ओबीसी के साथ धोखाधड़ी की गई।

 

ओबीसी की शिकायत पर सीबीआई ने महेश टिंबर प्राइवेट लिमिटेड (एम.टी.पी.एल.) के निदेशकों अशोक मित्तल और निशा मित्तल, बैंक के वरिष्ठ प्रबंधक सुरेंद्र कुमार रंगा के खिलाफ मामला दर्ज किया है। गौर करने वाली बात है कि रंगा को इस मामले मे बर्खास्त कर दिया गया है।