बिहार में ट्रेन की बोगी में घुसी पटरी, एक की मौत

नई दिल्ली। रेल हादसों के मामलें लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं बता दे कि हाल ही में अभी ट्रेन लापरवाही की एक खबर सामने आई थी जिसमें एक ट्रेन बिना इंजन के ही पटरी पर दौड़ती नजर आ रही थी बता दे कि एक बार फिर रेल हादसें की खबर सामनें आई हैं जिसमें बिहार के लखीसराय जिले के किऊल रेलवे स्टेशन के पास शनिवार को ट्रैक किनारे रखी रेल पटरी मौर्य एक्सप्रेस की एक बोगी में घुस जाने से एक यात्री की मौत हो गई, जबकि दो घायल हो गए।

पुलिस के अनुसार किऊल रेलवे स्टेशन के पास हटिया-गोरखपुर मौर्य एक्सप्रेस जिस ट्रैक से गुजर रही थी, उसी के पास रखी रेल पटरियों में से एक 10 फीट की पटरी अचानक बोगी में घुस गई. इस पटरी की चपेट में आने से एक यात्री की मौत हो गई जबकि दो घायल हो गए. मृतक की पहचान सहारनपुर के मंगल सेठ के रूप में की गई है। इस घटना के दौरान तेज आवाज की वजह से रेलगाड़ी में अफरा-तफरी मच गई. किऊल रेल थाना के प्रभारी अशोक कुमार ने बताया, घायलों को किऊल रेलवे अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां गंभीर स्थिति को देखते हुए एक यात्री को पटना जबकि दूसरे को लखीसराय अस्पताल भेज दिया गया है।

पूर्व-मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि घटना के कुछ देर बाद तक झाझा-किऊल रेलखंड पर ट्रेनों का परिचालन ठप्प था, परंतु अब सामान्य हो गया है. उन्होंने बताया कि पूरे मामले की जांच कराई जा रही है। किसी साजिश की आशंका जताते हुए उन्होंने कहा कि पुरानी पटरियां रेल पटरी के किनारे ही रखी जाती रही हैं, लेकिन ऐसी घटना कभी नहीं घटी।

बहरहाल, मौर्य एक्सप्रेस को भी गंतव्य के लिए रवाना कर दिया गया है। ट्रेन लगभग 3.35 बजे किऊल स्टेशन पर पहुंची, जहां घायलों का इलाज रेलवे अस्पताल में कराया जा रहा है। उधर घटना के बाद से रेलवे पुलिस इस हादसे की जांच में जुट गई है।

घटना की सूचना पर जीआरपी और रेलवे सुरक्षा बल के जवान व अधिकारी मौके पर पहुंचे. यात्रियों से बातचीत में पता चला कि ट्रेन में अचानक एक पटरी का टुकड़ा जा घुसा। इसी वजह से यह हादसा हुआ है।
बता दे कि रेल हादसें की पहली घटना नहीं हैं अक्सरी ही रेलवें की तरफ से इस तरह की बड़ी लापरवाही सामनें आती रहती हैं जिससे की लोगों की जान पर आ बनती हैं।