modi pranav आज ही के दिन 7 साल पहले देश के 15वें प्रधानमंत्री बने थे नरेंद्र मोदी

‘नरेंद्र दामोदर दास मोदी’ एक ऐसा नाम जो आज पूरी दुनिया में जाना जाता है। आज ही के दिन नरेंद्र मोदी 7 साल पहले देश के प्रधानमंत्री बने थे।

यह इसलिए भी खास है क्योंकि 30 साल बाद किसी पार्टी को पूर्ण बहुमत मिला था। आज यानि 26 मई के ही दिन साल 2014 में नई दिल्ली के राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने उन्हें शपथ के लिए बुलाया और शपथ ग्रहण करते ही मोदी के रूप में देश को अपना 15वां प्रधानमंत्री मिला था।

2014 का चुनाव रहा था खास

2014 का आम चुनाव बेहद खास रहा था। उन चुनावों में 30 साल बाद किसी पार्टी को पूर्ण बहुमत मिला था। उन चुनावों में भाजपा ने 282 सीटें जीती थी जबकि कांग्रेस 44 सीटों पर ही सिमट गई थी। हालांकि 1984 में हुए आम चुनावों में कांग्रेस का दबदबा रहा था। उस दौरान कांग्रेस ने 414 सीटों पर जीत हासिल की थी।

कांग्रेस की बढ़ी चुनौतियां

2004 में केंद्र में UPA की सरकार आई थी। उस दौरान यह मालूम नहीं था कि देष का प्रधानमंत्री कौन बनेगा। लेकिन फैसला आने के बाद यह तय हुआ कि डाॅ मनमोहन सिंह को प्रधानमंत्री बनाया जाएगा। लेकिन उस समय मनमोहन सिंह के साथ कांग्रेस के पास भी कई चुनौतियां थी। भ्रष्टाचार, महंगाई और कालेधन पर विपक्ष लगातार कांग्रेस पर हमला बोल रहा था। तो वहीं दूसरी तरफ अन्ना हजारे भी लोकपाल के लिए आंदोलन कर रहे थे।

कांग्रेस को घेर बीजेपी ने तैयारी की शुरू

विपक्ष और सभी संगठन मिल कर कांग्रेस के सामने मुश्किलें बढ़ा रहें थे। तो वहीं दूसरी तरफ बीजेपी अपनी पूरी तैयारी में लगी हुई थी। 2013 में देश के 9 राज्यों में विधानसभा चुनाव हुए। जिसमें राजस्थान, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ जैसे बड़े राज्यों में बीजेपी सत्ता बचाने में कामयाब रही।

प्रधानमंत्री पद पर लगी नरेंद्र मोदी के नाम की मुहर

प्रधानमंत्री बनने से पहले गुजरात के लोगों की जुबान पर बस एक ही नाम था और वो था नरेंद्र मोदी । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम मुहर उस समय लगी जब वह गुजरात में लगातार तीसरी बार अपना कार्यकाल चला रहे थे। 2 वजहों से सभी लोग गुजरात को जानने लगे थे पहला, 2002 दंगे और दूसरा, गुजरात मॉडल। इन दोनों वजहों से नरेंद्र मोदी एक मसीहा बन गए। फिर उसके बाद कांग्रेस उनके आगे टिक ना पाई ।

दूसरी बार बने देश के प्रधानमंत्री

1984 के आम चुनाव में कांग्रेस ने 404 सीटें जीतीं थीं। उस दौरान बीजेपी को सिर्फ 2 ही सीटें मिली थीं। लेकिन 30 सालों में ही पार्टी ने 2 सीटों से 282 सीटों का सफर तय किया। 2019 में ये आंकड़ा और ज्यादा बढ़कर 303 सीटों पर पहुंच गया और नरेंद्र मोदी लगातार दूसरी बार देश के प्रधानमंत्री बने।

ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने वालों के लिए अच्छी खबर, जानिए क्या है नई अपडेट

Previous article

सरकार के 7 साल पूरे होने पर भाजपा गांवों में करेगी सेवा कार्य कार्यक्रम

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured