September 26, 2022 7:56 am
featured Uncategorized धर्म

श्रावण माह मे भक्तो को मिली ओंकोरेश्वर के लाइव दर्शन।

shivling श्रावण माह मे भक्तो को मिली ओंकोरेश्वर के लाइव दर्शन।

इस वक्त पूरे देश में कोरोना फैला है। कोरोना संकट के बीच उज्जैन के ओंकोरेश्वर के पहले जलाभिषेक करने का मौका श्रद्धालुओं को नही मिला पर विषेश आरती मे लाइव प्रसारण से श्रद्धालुओं ने ओंकोरेश्वर के दर्शन किये। ओंकोरेश्वर मंदिर में भस्मारती के बाद भोलेनाथ को साफा पहनाकर श्रृंगार किया गया।  श्रद्धालुओं के लिये सुबह-शाम लाइव आरती का प्रसारण किया जाएगा। ऐसा पहली बार होगा जब इस श्रृंगार की लाइव प्रसारण की व्यवस्था की गई। ताकि लोग घर बैठे बाबा ओंकोरेश्वर के दर्शन कर सके।

बता दें कि बाबा ओंकोरेश्वर के दर्शन के लिए ऐसी व्यवस्था पहली बार की गई जब श्रद्धालुओं ने बाबा के लाइव दर्शन किए। जिस तरह से पूरे भारत में कोरोना का कहर बरपा हुआ है, वो शारिरिक रूप से तो कोरोना के कारण दूर है पर भक्तो के आस्था उनके साथ है
कल से भोले बाबा के भक्तों को श्रृंगार और पवित्र आरती लाइव दिखाई जा रही है। रविवार से ही ऑनलाइन दर्शन कराया जा रहा है ।

प्रशासन से मिली जानकारी के मुताबिक बाबा की पुजा वँहा के पांडित ही करेंगे ।वहीं इन नियमों के अनुसार इस पुजा में 55 साल से कम उम्र के लोगों को शामिल होने की अनुमति दी गई है। इसके साथ ही जो भी पंडितो को इस साल पुजा में शामिल होंगे उन सभी को अपना कोरोना टेस्ट कराना होगा और जिस व्यक्ति में भी कोरोना के लक्षण पाए गए उसको पुजा भे शामिल होने की अनुमति नहीं दी जाएगी। जितने भी पंडित कोरोना नेगिटिव होंगे उनको अपने नेगेटिव प्रमाण पत्र साथ रखने होगे।
शाम 4 बजे भगवान चंद्रमौलेश्वर रूप ओंकोरेश्वर मंदिर से नगर भ्रमण पर निकला था। कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए इस बार महाकाल की सवारी में भक्त शामिल नहीं हो सके, लेकिन वे मोबाइल पर महाकाल मंदिर ऐप के माध्यम से और टीवी पर भी उन्होने सवारी के दर्शन किये। महाकाल मंदिर से शुरू होकर सवारी बड़े गणेश मंदिर, हरसिद्धि चौराहा, झालरिया मठ के रास्ते सिद्धआश्रम के सामने से होते हुए शिप्रा के रामघाट पहुंची। वहां पुजारी ने शिप्रा जल से भगवान का अभिषेक कर पूजा-अर्चना की गई।

Related posts

जिनके पास भारतीय पासपोर्ट है सरकार उन एनआरआई को आधार कार्ड जारी करने पर करेगी विचार

bharatkhabar

ओवैसी ने पीएम पर साधा निशाना, बताया कमजोर प्रधानमंत्री, जानें क्या है पूरा मामला

Aman Sharma

देवभूमि डायलॉग की सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत करेंगे शुरूआत

piyush shukla