Breaking News featured यूपी

बेलगाम अफसरशाही: सरकार का फोन नहीं उठाते अफसर, पब्लिक की क्या खाक सुनते होंगे

Yogi Sarkar, officer, did not pick up the phone, reality check, UP news
लखनऊ। योगी सरकार के गुड गर्वनेंस के दावों के बीच एक कड़वा सच यह है कि अफसर जनता की नहीं सुन रहे। सोमवार को कई जिलों में तैनात अफसर रियलिटी चेक में फेल हो गए। अफसरों ने लखनऊ से गई कॉल अटेंड नहीं की। जिन अफसरों के पास शासन की सुनने की फुरसत नहीं है, वो जनता की कैसे सुनते होंगे।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रदेश में बेहतर शासन के लिए दिन रात कोशिश कर रहे हैं। मगर, कुछ अफसर उनकी मंशा नहीं समझ रहे हैं। रियलिटी चेक में फोन न उठने पर सीएम ने अफसरों के रवैया पर कड़ी नाराजगी जताई है। ऐसे सभी कमिश्नर और डीएम को नोटिस भेजा गया है।
सरकार ने प्रदेश के 25 डीएम, चार कमिश्नर और कुछ जिलों के एसएसपी से जवाब मांगा है। इन सभी से फोन न उठाने का कारण तीन दिन में बताने को कहा गया है।
इन मंडलों के कमिश्नर से मांगा गया है जवाब 
वाराणसी, प्रयागराज, अयोध्या व बरेली 
इन जिलों के डीएम नहीं उठाते हैं फोन
गौतमबुद्धनगर, गाजियाबाद, बदायूं, अलीगढ़, कन्नौज, संतकबीर नगर, सिद्धार्थनगर, गोरखपुर, फिरोजाबाद, हापुड़, अमरोहा, पीलीभीत, बलरामपुर, गोंडा, जालौन, कुशीनगर, औरैया, कानपुर देहात, कानपुर झांसी, मऊ, आजमगढ़, वाराणसी, प्रयागराज, अयोध्या और बरेली।
आगरा मंडल के किसी जिले के एसपी-एसएसपी ने फोन नहीं उठाया
आगरा मंडल के अफसरों ने तो हद ही कर दी। पूरे मंडल में किसी भी डीएम और एसएसपी ने सरकार का फोन नहीं उठाया।
इन जिलों के एसएसपी ने नहीं उठाया फोन 
अलीगढ़, प्रयागराज, कानपुर नगर, रायबरेली, कन्नौज, औरया, कुशीनगर, जालौन के एसएसपी का फोन नहीं उठा।

Related posts

उमस भरी गर्मी से लोग काफी परेशान अगले 24 घंटे में हो सकती है बारिश

Srishti vishwakarma

अमेरिका ने ईरान पर लगाए कड़े प्रतिबंध, इन मामलों पर लगे नए नियम

bharatkhabar

UP Election 1st Phase Voting: यूपी में प्रथम चरण की 58 सीटों पर 59.87 फीसदी मतदान

Neetu Rajbhar