December 1, 2022 6:01 am
featured खेल

ODI Melbourne- भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 7 विकेट से दी करारी शिकस्त

भारत का वन सीरीज पर कब्जा ODI Melbourne- भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 7 विकेट से दी करारी शिकस्त

मेलबर्न वनडे में भारत ने कंगारुओं को 7 विकेट से शिकस्त देकर ऑस्ट्रेलिया की सरजमीं पर पहली बार बाइलैटरल (द्विपक्षीय) वनडे सीरीज अपने नाम की है। इस वनडे सीरीज जीत के साथ ही भारत ने 2018-2019 ऑस्ट्रेलिया दौरा संपन्न बिना है। पहली बार ऐसा हुआ जब भारत ने ऑस्ट्रेलिया में एक ही दौरे पर दो सीरीज (टेस्ट और वनडे) में जीत दर्ज की है। बताते चलें कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत ने तीन मैचों की टी-20 सीरीज 1-1 की बराबरी पर खत्म की। उसके बाद टेस्ट सीरीज में 2-1 से जीत दर्ज की। और आज वनडे इंटरनेशनल सीरीज भी भारत ने 2-1 से अपने नाम की है।

भारत का वन सीरीज पर कब्जा ODI Melbourne- भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 7 विकेट से दी करारी शिकस्त

इसे भी पढ़ेंःउत्तराखंडः राज्य सरकार ऑस्ट्रेलिया से लाएगी 300 मरीनो भेड़ें

बता दें कि टीम इंडिया ने इससे पहले ऑस्ट्रेलिया की धरती पर 12 वनडे सीरीज खेली हैं। लेकिन इसमें एक सीरीज के अलावा सभी मल्टीनेशन वनडे सीरीज रहीं हैं। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच एकमात्र द्विपक्षीय वनडे सीरीज साल 2016 में खेली गई थी। पांच मैचों की इस सीरीज में भारत को 1-4 से हार का सामना करना पड़ा था। पूरा रिकॉर्ड देखा जाए तो भारत ने ऑस्ट्रेलिया में कुल 51 वनडे खेले, जिसमें 13 में जीत जबकि 36 मैचों में हार और 2 बेनतीजा भी रहे हैं।

इसे भी पढ़ें-धोनी की प्रतिभा पर सवाल उठाने वालों को गावस्कर ने दिया जवाब

टीम इंडिया इससे पहले ऑस्ट्रेलिया में दो वनडे सीरीज जीती हैं, लेकिन वह बाइलैटरल (द्विपक्षीय) नहीं थीं बल्कि मल्टीनेशन वनडे सीरीज रहीं। भारत ने 1984-1985 में बेंसन एंड हेजेस वर्ल्ड चैंपियनशिप टूर्नामेंट जीता था। इसके बाद भारत ने 2007-2008 में कॉमनवेल्थ बैंक वनडे ट्राई सीरीज में जीत दर्ज की थी।

साल 1984-1985 में भारत ने सुनील गावस्कर की कप्तानी में ऑस्ट्रेलिया में मल्टीनेशन वनडे टूर्नामेंट जीता था। इस टूर्नामेंट के एक मैच में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 8 विकेट से हराकर जीत दर्ज की थी। एमसीजी पर 1984-1985 में बेंसन एंड हेजेस वर्ल्ड चैंपियनशिप भारत और ऑस्ट्रेलिया दोनों के लिए ही बहुत खास थी। टीम इंडिया को नॉकआउट करने के लिए ऑस्ट्रेलिया को 223 रन बनाकर मेहमान टीम को 160 रन के स्कोर पर रोकने की जरूरत थी।

इसे भी पढ़ेंःगावस्कर और मांकड के क्लब में शामिल हुए राहुल

Related posts

डोकलामःचीन की गतिविधियां बढ़ीं, विदेश मामलों की संसदीय समिति सरकार को किया सचेत

mahesh yadav

कोरोना महामारी के बीच विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने उन्नाव वासियों को दी सौगात

sushil kumar

सनसनी: बदमाशों ने युवक की छाती में उतारी 20 गोलियां,सीसीटीवी में कैद

Breaking News