हैप्पी बर्थडे नूतन : 14साल की उम्र में किया था एडल्ट फिल्म में काम

नई दिल्ली।  भारतीय फिल्मों की वो अदाकारा जिसने फिल्मी पर्दे पर भारतीय नारी और उसके गहरे जज्बात को सम्मान का हकदार बनाया। महज 14साल की उम्र में फिल्मी सफर की शुरूआत करने वाली नूतन किसी पहचान की मोहताज नहीं है। नूतन का जन्म एक्ट्रेस शोभना समर्थ और कुमार सेन सामर्थ्य के घर मुंबई में 4 जून 1936 को हुआ था। नूतन बहल शायद अपने नाम की तरह भारतीय फिल्म इतिहास के पर्दे पर नई कहानी लिखने के लिए ही पैदा हुई थीं नूतन की पढ़ाई का सिलसिला पंचगनी से लेकर स्विटजरलैंड तक चला है।

 

 

पहला फिल्म फेयर अवॉर्ड

नूतन को अपना पहला फिल्म फेयर अवॉर्ड फिल्म सीमा के लिए मिला था जो कि 1955 में आई थी। इसके अलावा नूतन को ‘सुजाता’ 1959, ‘बंदिनी’ 1963, ‘मिलन’ 1967 और ‘मैं तुलसी तेरे आंगन’ की में निभाएं यादगार रोल्स के लिए सबसे ज्यादा फिल्म फेयर अवॉर्ड हासिल करने वाली एक्ट्रेस में उनका नाम आज भी शुमार है।

 

बर्थडे स्पेशल-आदित्य चौपड़ा के वो राज जो किसी को नहीं पता

 

रजनीश बहल से शादी

11 अक्टूबर 1959 में नूतन नेवी के लेफ्टिनेंट कमांडर रजनीश बहल के साथ सात फेरे लेकर शादी के बंधन में बंध गईं। नूतन जब फिल्मी इंडस्ट्री पर राज कर रही थीं उस समय नूतन की शादी हो चुकी था और नूतन के पति को ये जरा भी पसदं नहीं था कि नूतन फिल्मों में काम करें। नूतन को फिल्मों में उनके योगदान के लिए 1974 में भारत सरकार ने पद्मश्री से सम्मानित किया। 2011 में उनके नाम पर डाक टिकट भी जारी किया गया।  आज नूतन के बेटे मोहनीश बहल फिल्म इंडस्ट्री में बतौर एक्टर जाना पहचाना नाम हैं। उनकी बहन तनुजा, और बाद में भांजी काजोल ने अदाकारी की दुनिया में उनके नाम को और आगे बढ़ाया।

एडल्ट फिल्मों में काम

नूतन उन अदाकाराओं में से एक हैं जिन्होंने महज 14साल जैसी कम उम्र में एडल्ट फिल्मों में काम किया था। 14साल की उम्र में नूतन ने नगीना में काम किया था जिसे सेंसर बोर्ड की ओर से एडल्ट फिल्म का नाम दिया गया था। बता दे कि ये फिल्म रोमांस और क्राइम सस्पेंस से भरी हुई थी जिसकी वजह से सेंसर बोर्ड की ओर से इस फिल्म को ए सर्टिफिकेट दिया गया था।