featured दुनिया

अब अमेरिका से लगने वाला है चीन को बड़ा आर्थिक झटका, अमेरिका में बैन हो सकता है टिक-टॉक

donald trump अब अमेरिका से लगने वाला है चीन को बड़ा आर्थिक झटका, अमेरिका में बैन हो सकता है टिक-टॉक

लदद्ख सीमा पर चीन की हरकत के बाद से भारत में चीन का विरोध हो रहा है। जिसके चलते भारत ने चीन के 59 ऐप पर प्रतिबंध लगा दिया था।

वॉशिंगटन। लदद्ख सीमा पर चीन की हरकत के बाद से भारत में चीन का विरोध हो रहा है। जिसके चलते भारत ने चीन के 59 ऐप पर प्रतिबंध लगा दिया था। उसके बाद भारत ने कलर टीवी सेट पर रोक लगा दी है। जिससे चीन को एक बहुत बड़ा आर्थिक झटका लगा है। भारत के बाद अमेरिका ने चीन को आर्थिक झटका देने का फैसला लिया है। अमेरिका ने चीन के मशहूर ऐप टिक-टॉक को बैन करने का फैसला लिया है। दरअसल अमेरिका चीन से कोरोना फैलने के बाद से ही नराज है। डोनाल्ड ट्रंप कई बार मीडिया के सामने भी चीन पर निशाना साध चुके हैं। ट्रंप ने कोरोना फैलाने का जिम्मेदार चीन को ठहराया है। ट्रंप ने  कहा कि 24 घंटे में अमेरिका में एक एग्जीक्यूटिव ऑर्डर के साथ टिक टॉक पर प्रतिबंध लगाया जाएगा।

बता दें कि इससे पहले ही अमेरिका ने फैसला किया था कि वो चीन के ऐप टिक-टॉक पर बैन लगाएगा। ट्रंप ने कहा था, ‘हमारा प्रशासन भी टिक टॉक पर एक्शन लेने के लिए इसका मूल्यांकन कर रहा है। एक प्रचलित चीनी वीडियो ऐप अब राष्ट्रीय सुरक्षा और सेंसरशिप के मुद्दे का एक स्रोत बन गई है।

https://www.bharatkhabar.com/cockroaches-are-making-china-rich/

वहीं अमेरिका के राष्ट्रपति का टिक-टॉक को लेकर बयान उस रिपोर्ट्स के बाद आया जिसमें बताया गया कि बाइटडांस टिक-टॉक को खरीद सकता है। इस बारे में कंपनी माइक्रोसॉफ्ट से बात कर रही है। ट्रंप ने रिपोर्टर्स के सवाल का जवाब देते हुए कहा था कि हम टिक-टॉक देख रहे हैं लेकिन हम बहुत जल्द इस पर बैन लगा सकते हैं। हम और भी कुछ कर सकते हैं क्योंकि हमारे पास कई ऑप्शन है। देश में बहुत कुछ हो रहा है हम दखेंगे की क्या हो सकता है।

कई विदेशी मीडिया का कहना है कि बाइटडांस जल्द ही टिक-टॉक से अलग होने के बारे में फैसला कर सकता है। अमेरिका की कई बड़ी टेक कंपनी और फाइनेंशियल फर्म की टिक टॉक के खरीदने की खबरें आई हैं। न्यूयॉर्क टाइम्स और फॉक्स न्यूज ने सूत्रों के हवाले से खबर है कि माइक्रोसॉफ्ट टिक-टॉक को खरीद सकता है इसको लेकर कंपनी बात भी कर रही है।

कंपनी ने क्या दी थी सफाई

वहीं टिक-टॉक ने कहा कि कई तरह की अटकलें सामने आ रही है लेकिन हम अटकलों पर किसी भी तरह की टिप्पणी नहीं करना चाहते। हम टिक-टॉक की सफलता पर यकीन करते हैं हम अटकलों पर विश्वास नहीं करते। बाइटडांस ने 2017 में टिक टॉक को लॉन्च किया था और बहुत ही कम समय में ये ऐप युवाओं के बीच काफी प्रचलिच हो गया था। भारत में पहले ही टिक टॉक को बैन कर दिया गया है।

Related posts

AIMIM के पार्षद सैयद मतीन ने वाजपेयी की श्रद्धांजलि का किया विरोध,लोगों ने जमकर पीटा

rituraj

नीरव मोदी के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी

Breaking News

राजस्थान के 18 जिलों पर मडरा रहा टिड्डियों का खतरा, फसल नहीं मिल रही तो पेड़ो को पहुंचा रही नुकसान

Rani Naqvi