नोएडा: 5 हजार करोड़ की लागत से बनेगा उत्तर भारत का पहला मेडिकल डिवाइस पार्क

नोएडा: उत्तर भारत का पहला मेडिकल डिवाइस पार्क नोएडा में बनने जा रहा है। इस प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए 5000 करोड रुपए की रकम प्रस्तावित की गई है। पार्क के डेवलपमेंट के लिए यमुना एक्सप्रेसवे इंडस्ट्रियल अथॉरिटी मार्च के महीने में पूरा प्लान प्रस्तुत कर सकती है।

2023 तक हो सकता है पूरा निर्माण
इस निर्माण कार्य को नोएडा क्षेत्र में किया जाएगा, पूरे निर्माण का ब्यौरा जल्दी ही सरकार के प्रस्तुत होगा। पहले फेस में 125 एकड़ की जमीन इस्तेमाल की जाएगी। इसके बाद दूसरे फेज में 200 एकड़ का क्षेत्र और जोड़ा जाएगा। यह पूरा निर्माण सेक्टर 28 के आसपास किए जाने की उम्मीद है।

केंद्र सरकार से 100 करोड़ की मदद
ऐसा माना जा रहा है कि इस प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए केंद्र सरकार 100 करोड़ की मदद कर सकती है। शेष रकम प्रदेश सरकार के माध्यम से उपलब्ध करवाई जाएगी। जबकि पूरे निर्माण की लागत 5000 करोड़ प्रस्तावित है। देश के अन्य मेडिकल डिवाइस पार्क पर नजर डालें तो कुल 4 इस तरह के पार्क हैं। जो दक्षिण के राज्यों आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, तमिलनाडु और केरल में स्थित है।

पार्क में कई तरह की सुविधाएं उपलब्ध होंगी। जिससे आने वाले समय में स्वास्थ्य क्षेत्र में बड़ी मदद हो सकती है। इस परिसर में कई रेडियोलॉजिकल डिवाइस लगाने की तैयारी है। जिनमें सिटी स्कैन, x-ray मशीन, बीपी मॉनिटर, पल्स ऑक्सीमीटर, वेंटीलेटर आदि को शामिल किया गया है।

प्रियंका का आरोप, BJP ने खरबपति मित्रों के फायदे के लिए बनाए कृषि कानून

Previous article

कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग : किसानो को करोड़ो का चूना लगाकर कंपनी फरार,नहीं हुई अभी तक कोई कार्यवाही

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured