लखनऊ में अब नहीं लगेगी शवों की भारी भीड़, नगर निगम ने शुरू की तैयारी

लखनऊ: कोरोना संक्रमण से लगातार मौतों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। सोमवार सुबह तक कुल 4 लोगों की मौत हो चुकी है, ऐसे में नगर निगम की तरफ से अंतिम संस्कार स्थल की तैयारियां भी दुरुस्त की जा रही हैं।

मंगवाई गई 10 ट्रक लकड़ी

दाह संस्कार करने के लिए लकड़ी का भी इस्तेमाल किया जा रहा है। ऐसे में नगर निगम लखनऊ की तरफ से 10 ट्रक की लकड़ी मंगवाई गई है। जानकारी के लिए बता दें कि 1 ट्रक लकड़ी में कुल 8 शवों का दाह संस्कार किया जाता है। पिछले कुछ दिनों से लगातार खराब सुविधाओं पर सवाल उठाए जा रहे थे, शवों की लंबी लंबी कतार स्थलों के बाहर देखी जा रही थी। ऐसे में अब नगर निगम ने अपनी सुविधाओं को दुरुस्त करने का फैसला किया है।

तैयार किए गए 90 प्लेटफार्म

नगर निगम की तरफ से कुल 90 प्लेटफार्म तैयार किए गए हैं। जहां मृतकों का अंतिम संस्कार किया जाएगा। बैकुंठ धाम में 60 और गुलाला घाट में 30 प्लेटफार्म तैयार हो गए हैं। लकड़ी के साथ-साथ इलेक्ट्रिक मशीन से भी दाह संस्कार किया जा रहा है, लेकिन उसमें कई बार कुछ तकनीकी खराबी भी देखने को मिलती है। जिसके चलते शवों की लंबी-लंबी कतार लग जाती है। अब इसी को देखते हुए कई बदलाव किए जा रहे हैं।

पूरे प्रदेश में स्थिति खराब

कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं, फिर भी लोग बिना मास्क के दिखाई दे रहे हैं। ऐसे में सरकार जागरुकता पर भी जोर दे रही है। बिना मास्क वाले लोंगों पर चालान भी लगाया जा रहा है। हजारों की संख्या में आ रहे मामले फिर माहौल को बिगाड़ने का काम कर रहे हैं। प्रदेश के कई शहरों में नाइट कर्फ्यू भी लग चुका है।

चायवाला प्रधानमंत्री तो चायवाली बनेगी प्रधान, आखिर क्या है मामला

Previous article

कोरोना का कोहराम: टूट गए पिछले सारे रिकॉर्ड, 1.68 लाख नए केस, 904 की मौत

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.