November 28, 2021 6:15 am
featured जम्मू - कश्मीर

जम्मू-कश्मीर आतंकी फंडिंग मामले में एनआईए ने बारामूला जिले के उरी में की छापेमारी..

funding 2 जम्मू-कश्मीर आतंकी फंडिंग मामले में एनआईए ने बारामूला जिले के उरी में की छापेमारी..

जम्मू कश्मीर में हुए आंतकी फंडिग मामले में एनआईए ने कश्मीर के बारामूला जिले के उरी में ताजा छापेमारी की है। ये रेड भोले भाले युवाओं को आतंक में भर्ती करने के लिए रूपये मुहैया कराए जाने के मामले के सामने आने के बाद हुई है।

funding 1 जम्मू-कश्मीर आतंकी फंडिंग मामले में एनआईए ने बारामूला जिले के उरी में की छापेमारी..
आपको बता दें, घाटी में सक्रिय ओवर ग्राउंड वर्करों को राशि पहुंचाकर हथियार रखने के लिए रूपये और आतंकियों को राशन पहुंचाने का काम लिया जाता है। सुरक्षा बलों ने सोमवार को सोपोर से दो ओवरग्राउंड वर्करों को पकड़कर एक एके-47 राइफल और 20 कारतूस बरामद किए हैं। इस नेटवर्क में दुकानदार, छात्र, मौलवी, ठेकेदार और गरीब युवाओं को इस्तेमाल में लाया जाता है। राशि को अलग अलग तरीके से इन लोगों को पास पहुंचाया जाता है और उसके बाद इसे आतंकियों व अग्रिम पंक्ति के ओवरग्राउंड वर्करों तक पहुंचाने का काम किया जाता है।

हवाला नेटवर्क सक्रिय होने की सूचना पर छह ओवरग्राउंड वर्करों को भी डोडा से जम्मू कश्मीर पुलिस ने दबोच लिया है और तीनछोटे छोटे टिफिन में रखी करीब 12,34000 हवाला रकम जब्त की थी। 20 जुलाई को पुलिस ने जम्मू शहर के तालाब खटीकां क्षे़त्र से एक ओवर ग्राउंड वर्कर मुब्बसर फारूक भट निवासी डोडा को पकड़ा और उसके टिफिन में रखे डेढ़ लाख रूपये बरामद किए। मुब्बसिर चंडीगढ़ के एक नर्सिंग ,कालेज में छात्र है।

उससे पूछताछ के बाद पुलिस ने पांच और युवको को डोडा से पकड़ा, जिनमे जम्मू में मीट की दुकान में काम करने वाले इकबाल निवासी काटल, डोडा में किरीयाना दुकान के मालिक तारिक हुसैन निवासी तांता डोडा, डोडा की एक मस्जिद के मौलवी तकीर अहमद भट निवासी सजान डोडा, सरेंडर आतंकी और पुलिस का पूर्व एसपीओ आसिफ भट, खालिद लतीफ भट निवासी डोडा शामिल हैं।
तो वहीं इस मामले पर जम्मू जोन के आईजी मुकेश सिंह के अनुसार हवाला नेटवर्क के तार पंजाब, मुंबई, राजस्थान और जम्मू कश्मीर तक जुड़े हुए हैं। पाकिस्तान में मौजूद लश्कर ए तोइबा के आतंकी सरगना मोहम्मद अमीन भट उर्फ हारूण निवासी डोडा के संपर्क में थे।आबिद अहमद डोडा में लश्कर ए ताईबा का जिला कमांडर था और 2007 में पाकिस्तान भाग गया था। उसने इस राशि को डोडा में लश्कर ए तोइबा के लिए नई भर्ती के लिए भेजा था।

इन रैकेैटियर ने कुछ समय पहले ही एक युवक आबिद अहमद भट को आतंकी बनाया। आबिद ने कुछ समय पहले ही पुलिस के समक्ष सरेंडर कर दिया था। डोडा क्षे़त्र में अभी भी कुछ गिने चुने लश्कर के कुछ आतंकी सक्रिय हैं।

https://www.bharatkhabar.com/jk-terrorist-funding-hawala-karobar-exposed/
इन सभी घटनाओं के बाद एनआईए ने बड़ा कदम उठाते हुए रेड मारी है। रेड के बाद उम्मीद की जा रही है कि, इससे कई सारी जानकारियां सामने आ सकती है।

Related posts

भाई की यादें की नहीं भुला पा रही श्वेता कीर्ति तो तनाव कम करने के लिए ले रही भागवत गीता का सहारा, पढ़ें पूरी खबर

Trinath Mishra

पिथौरागढ़: संचार सुविधा से महरूम सैकड़ों गांव, सांसद अजय टम्टा का दावा जल्द मिलेगी सुविधा

pratiyush chaubey

नोटबंदी के बाद डिजिटल पेमेंट को मिला बढ़ावा, RBI में डिजिटल पेमेंट के लिए बड़ा फैसला

Rani Naqvi