September 26, 2022 7:56 am
featured Sputnik News - Hindi-Russia दुनिया

भारत के साथ लॉकडाउन लगाने वाले देश न्यूजीलैंड ने पाया कोरोना पर काबू, हालात हुए बेहतर

न्यूजीलैंड भारत के साथ लॉकडाउन लगाने वाले देश न्यूजीलैंड ने पाया कोरोना पर काबू, हालात हुए बेहतर

यू.एस ब्यूरो। चीन से फैले कोरोना वायरस के वैश्विक कहर के बीच भारत में कोविड-19 के मामलों में लगातार इजाफा देखने को मिल रहा है। देश में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए 21 दिनों के लॉकडाउन के बाद भी इसकी अवधि को बढ़ाने पर विचार-विमर्श चल रहा है। भारत में भले ही कोरोना वायरस पर अभी तक काबू नहीं पाया गया है और इसका संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है। लेकिन, दुनिया में एक देश ऐसा भी है जिसने भारत के साथ ही लॉकडाउन का ऐलान किया था और वहां के हालात यहां से काफी बेहतर होने लगे हैं। 

न्यूडीलैंड में लगातार चौथे दिन मामलों में गिरावट

दरअसल, भारत और न्यूजीलैंड ने एक ही दिन कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में लॉकडाउन का ऐलान किया था। न्यूजीलैंड ने एक तरह से कोरोना वायरस पर काबू पा लिया है और इसके मामलों लगातार गिरावट देखने को मिल रही है। दूसरी ओर भारत है, जहां कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या तीव्र गति से बढ़ती ही जा रही है। बीते एक सप्ताह के आंकड़ों पर गौर करें तो भारत में हर दिन कोरोना के मरीजों की संख्या में  500 से अधिक का इजाफा हो रहा है, वहीं न्यूजीलैंड में लगातार चौथे दिन मामलों में गिरावट देखने को मिली है। 

दोनों देशों में एक ही दिन लॉकडाउन 

गुरुवार को न्यूजीलैंड में महज 29 नए मामले सामने आए हैं, वहीं भारत में यह आंकड़ा 590 के करीब था। न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न ने चार सप्ताह के लॉकडाउन का ऐलान किया है, वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 24 मार्च की रात आठ बजे देश के नाम संबोधन में 21 दिनों के लॉकडाउन का ऐलान किया है। भारत की तरह न्यूजीलैंड में भी सब कुछ बंद है, राशन, सब्जी, दवा की दुकानों को छोड़कर।

न्यूजीलैंड और भारत दोनों ही देश सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे हैं। दोनों देशों ने अपनी आबादी को घरों में कैद कर रखा है, ताकि कोरोना के प्रसार से बचा जाए, मगर बावजूद इसके भारत में कोरोना के मरीजों की संख्या 6400 पार है, वहीं न्यूजीलैंड में 1200 के करीब। दरअसल, न्यूजीलैंड ने अगर भारत के मुकाबले कोरोना पर इतनी जल्दी काबू पा लिया है तो इसकी एक और सबसे बड़ी वजह है उसकी आबादी।

Related posts

भारत में अपनी मांगो को लेकर अफगानी मूल के लोगों का प्रदर्शन जारी, UNCHR से लगा रहे रिन्फ्यूजी कार्ड की गुहार

Rani Naqvi

Aaj Ka Panchang: जान‍िए 9 मई 2022 द‍िन सोमवार का पंचांग शुभ मुहूर्त और राहुकाल

Rahul

भारत में तेजी से फैल रहा नया स्ट्रेन! सरकार ने ब्रिटेन की उड़ाने की आवाजाही पर बढ़ाई रोक

Shagun Kochhar