ramadan 2021JGtdefhg0ke e1615986919757 रमज़ान 2021 के चलते नयी गाइडलाइन्स, रमज़ान के महीने में सऊदी सरकार ने जारी की नई गाइडलाइन्स, आप भी जानें

सऊदी अरब – कोरोना सक्रमण और रमज़ान के नज़दीक आने के चलते सऊदी सरकार ने फरमान जारी किया है कि कोविड-19 के सख़्त सुरक्षा प्रोटोकॉल मस्जिदों में लागू होंगे, साथ ही इशा की नमाज़ तथा तरावीह का समय केवल आधा घंटे तक सीमित कर दिया गया है।

नमाज़ो के बाद मस्जिदों में तुरंत ताला लगाने के निर्देश –
कोरोना सक्रमण के चलते सऊदी अरब सरकार ने रमज़ान के महीने के मध्यनज़र नयी कोरोना गाइडलाइन्स जारी की है। जिसके अनुसार कोविड-19 नियमों का पालन करना रमजान के महीने में जरूरी होगा।

रमजान के दौरान सख्त निरीक्षण अभियान चलाया जाएगा और नियमों के उल्लंघन करनेवालों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही की जाएगी चाहे कोई संस्था हो या व्यक्ति। साथ ही नमाज़ के फ़ौरन बाद तुरंत मस्जिदों में ताला लगा दिया जाए, तथा इफ़्तारी को भी किसी के भी घर एवं मस्जिदों में बांटने पर पाबंदी लगा दी गयी है।

रमज़ान 2021 के लिए जारी की गयी गाइडलाइन्स –
1. राष्ट्रीय आपातकालीन संकट एवं प्रबंधन प्राधिकरण ने सलाह दी है कि रमजान के दौरान शाम की सभाओं से बचा जाए और पारिवारिक मुलाकात को सीमित किया जाए। या हो सके तो बिलकुल ख़त्म कर दें।
2. लोगों को बताया जाता है कि भोजन का आदान-प्रदान और वितरण से परहेज करें। सिर्फ एक घर में रहने वाले परिवार के लोग ही भोजन आपस में साझा कर सकते हैं।
3. पारिवारिक या संस्थागत इफ्तार टेंट लगाने, सार्वजनिक स्थानों पर भोजन साझा करने या मुहैया कराने और इफ्तार को घर और मस्जिद के सामने बांटने की इज़ाज़त नहीं है।
4. ऐसे इच्छुक लोगों को परोपकारी संस्थाओं के साथ समन्वय बनाने की हिदायत दी जाती है और जकात या दान इलेक्ट्रॉनिक तरीके से अदा करने का सुझाव दिया जाता है।
5. रमजान में कोविड-19 के सुरक्षात्मक नियम रेस्टोरेंट पर भी लागू किए जायेंगे साथ ही इफ्तार का खाना रेस्टोरेंट के अंदर या सामने बांटने की इजाजत पर पाबन्दी लगा दी गयी है।
6. तरावीह की अदा की जानेवाली नमाज कोविड-19 के एहतियाती प्रावधानों के तहत पढ़ी जाएंगी। उस दौरान सुरक्षा के तमाम नियमों का ख्याल रखा जाएगा।
7. मस्जिदों में तरावीह और ईशा की नमाज को सीमित करते हुए 30 मिनट तक किया जाएगा। मस्जिदों को नमाज़ खत्म होने के बाद तुरंत बंद कर दिया जाएगा।
8. रोज़ा खोलने के लिए इफ्तार का भोजन मस्जिद के अंदर खाने की इजाजत नहीं होगी। साथ ही महिलाओं के लिए आरक्षित जगहें, बाहरी सड़क पर स्थित मस्जिद बंद रहेंगी।
9. रमजान में धार्मिक आयोजन पाठ और मीटिंग बंद रहेंगी। सिर्फ वर्चुअली शिरकत की छूट रहेगी। साथ ही कुरआन की तिलावत डिवाइस के जरिए किया जाना चाहिए।
10. साथ ही रमजान की आखिरी दस रातों में इबादत के लिए राष्ट्रीय आपातकालीन संकट एवं प्रबंधन प्राधिकरण का कहना है कि स्थिति की समीक्षा कर जानकारी दी जाएगी।

BHU में शामिल हुआ अनोखा कोर्स, अब काशी के मेलों पर होगी पढ़ाई

Previous article

अंबेडकरनगर: पाठशाला में चल रही थी ‘रासलीला’, वीडियो वायरल होते ही मचा हड़कंप

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.