nepal 2 3 नये नक्शे में भारत के हिस्सों को अपना बता कर बुरा फंसा नेपाल ..

नेपाल के नये नक्शे को लेकर भारत और नेपाल बीच लगातार बढ़ता ही जा रहा है। जिसको लेकर नेपाल और भारत के बीच के रिश्ते खराब होते जा रहे हैं। तो वहीं नये नक्शे को नेपाल की संसद में भी पारित कर दिया है। जिसको को लेकर काफी विवाद हो गया है।

nepal 2 नये नक्शे में भारत के हिस्सों को अपना बता कर बुरा फंसा नेपाल ..
नेपाल की संसद के निचले सदन में शनिवार को नए नक्शे को लेकर विधेयक पारित हो गया था। अब यह विधेयक संसद के उच्च सदन में जाएगा। आज उच्च सदन में हुई बैठक में इस नए राजनीतिक नक्शे को संविधान में शामिल करने के लिए विचार प्रस्ताव पारित किया गया।

नए नक्शे के मुताबिक भारत के उत्तराखंड में आने वाले लिंपियाधुरा, कालापानी और लिपुलेख को नेपाल ने अपना हिस्सा बताया है। हालांकि, भारत ने नेपाल के इस फैसले को अस्वीकार्य करार देते हुए ऐतिहासिक तथ्यों से एकदम अलग बताया है और कहा है कि ये तीनों क्षेत्र भारत के हैं और रहेंगे।

राजनीति में नजर रखने वालों का कहना है कि, नेपाल द्वारा नक्शे में संशोधन और कालापानी क्षेत्र को अपने में शामिल करने का फैसला यह दिखाता है कि केपी ओली सरकार राष्ट्रवाद के नाम पर महज सस्ती लोकप्रियता पाना चाहती है, इसका उन्हें उल्टा परिणाम भुगतना पड़ सकता है।

ओली सरकार का यह दांव नेपाल और भारत के बीच की भूमि को लेकर दोनों देशों के बीच नया और बड़ा विवाद का मुद्दा उत्पन्न कर सकता है। उन्होंने कहा, ‘ऐसी रिपोर्ट सामने आई हैं जिनसे पता चलता है कि नेपाल ने यह कदम चीन के कहने पर उठाया है। अगर ऐसा है तो यह दुर्भाग्यपूर्ण है।’

https://www.bharatkhabar.com/this-youth-of-haryana-opened-the-fortunes-of-farmers-and-cows/
क्योंकि इससे भारत और नेपाल के रिश्ते खराब होंगे जिसकी नेपाल को भारी किमत चुकानी पड़ेगी। क्योंकि भारत की तरफ से नेपाल की काफी मदद की जाती है। अगर वो ऐसे ही भारत पर दबाब बनाचता रहा तो भारत नेपाल की एक न सुनते हुए कुछ बड़े कदम उठा सकता है। जो नेपाल के लिए मुश्किले खड़ी कर सकता है।

ब्राजील में ‘लाशों’ ने किया ‘मुर्दों’ को विरान, कब्रिस्तानों के हालत आपकी रूह कांपा देंगे..

Previous article

पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर के नागरिक भारत का हिस्सा बनने की माँग करेंगे..

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured