क्या सही हैं नवरात्र में सेंधा नमक का खाने में इस्तेमाल

नई दिल्ली। चैत्र नवरात्र शुरू हो चुके हैं और लोगों ने उपवास रखना भी शुरू कर दिया हैं पर कुछ लोग इस कसमकश में हैं कि व्रत के खाने में सेंधा नमक का प्रयोग करें या नहीं तो आज हम आपको बताने वाले हैं कि क्या सच में व्रत का नमक व्रत का ही नमक हैं। खाना कितना भी स्वादिष्ट क्यों ना हो, बगैर नमक वह बेस्वाद ही लगता है।

नमक का इस्तेमाल

खाने का जायका बढ़ाने के अलावा नमक का सेहत के लिहाज से भी काफी महत्व है।मनक हामरें शरीर के पीएच स्तर बनाए रखता है और पाचन तंत्र को सही रखता है। ब्लड प्रेशर को भी मेंटेन रखने में नमक काफी मददगार साबित होता हैं और इसकी कमी हो तो मांसपेशियों में क्रैम्प होने की आशंका बढ़ जाती है. लेकिन आपके मन में भी कई बार यह सवाल आता होगा कि नवरात्रि में सफेद नमक की जगह सेंधा नमक क्यों खाया जाता है।

क्यो करते हैं सेंधा नमक का इस्तेमाल

नवरात्रि में सेंधा नमक व्रत का ही नमक होता हैं सेंधा नमक को आयुर्वेद में सैंधावा भी कहते हैं। ऐसा माना जाता है कि इसे सबसे पहले सिंध क्षेत्र में बनाया गया था। सेंधा नमक, अपने शुद्ध रुप में होता है और इसे केमिकल प्रोसेस से नहीं गुजरना होता। इसमें सोडियम की मात्रा सादे नमक से कम होती है जिसका नवरात्रि के दौरान खास महत्व है।