September 29, 2021 1:14 am
देश

दिल्ली मेंं आंठवी कक्षा के स्कूलों को लेकर DDMA की बैठक में लिया गया ये फैसला

Kejriwal 1 दिल्ली मेंं आंठवी कक्षा के स्कूलों को लेकर DDMA की बैठक में लिया गया ये फैसला

दिल्ली सरकार ने कोरोना के खतरे को देखते हुए आंठवी  क्लास के स्कूलों को  खोलने पर अभी रोक लगा दी है।  दिल्ली सरकार नहीं चाहती की तीसरी लहर पर कोई भी लापरवाही की जाये। और यही वजह है कि अभी आंठवी क्लास तक के स्कूलों को बंद रखा जायेगा।

दिल्ली में 9वीं से 12वीं तक के स्कूल 50 फीसदी कैपेसिटी के साथ खुले हुए हैं।

दिल्ली में 9वीं से 12वीं तक के स्कूल 50 फीसदी कैपेसिटी के साथ खुले हुए हैं।  वहीं अभी एक से लेकर आठवीं तक के स्कूलों को बंद रखा जायेगा।   साथ ही बिजेनस टू बिजनेस और बिजनेस टू कस्टमर एग्जिबिशन को भी अनुमति मिल गई है. 50 फीसदी  कैपेसिटी के साथ ऑडिटोरियम और असेंबली हॉल्स में कार्यक्रम  किये जा सकते हैं। और ये आदेश 30 सितंबर तक लागू रहेगा।

9 वीं से 13वीं  क्लास के बच्चों के स्कूल  गाइडलाइंस

क्लास रूम की सीटिंग 50 फीसदी ही रखी गयी है।  हर क्लास में सोशल डिस्टेंसिंग के लिए नियम बनाये गये हैं। . मॉर्निंग और इवनिंग शिफ्ट के स्कूलों में दोनों शिफ्टों के बीच कम से कम एक घंटे का गैप रखा जायेगा। बच्चों को अपना खाना, किताबें और अन्य स्टेशनरी का सामान एक-दूसरे से शेयर नहीं करना है। लंच ब्रेक को किसी ओपन एरिया में इस अलग-अलग समय पर रखने की सलाह दी गई है ताकि ज़्यादा भीड़ ना रहे। सीटिंग अरेंजमेंट की बात करें तो  एक सीट छोड़कर बैठने की व्यवस्था की जाये। साथ ही माता- पिता की मर्जी पर ही  बच्चों को स्कूल बुलाने के लिए मंजूरी ज़रूरी है।

 

Related posts

पटरी पर मंदिरों में प्रार्थना करें तो क्या वो भगवान तक पहुंचेंगीः दिल्ली कोर्ट

Vijay Shrer

उपराष्ट्रपति चुनाव: वेंकैया नायडू के सामने खड़े हुए गोपाल कृष्ण गांधी, कल होगा फैसला

Pradeep sharma

भूटान की राजमाता ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की

mahesh yadav