featured देश

भारत में भुखमरी की स्थिति चिंताजनक, 116 देशों की लिस्ट में भारत 101वें नंबर पर आया, पाकिस्तान, नेपाल और बांग्लादेश से भी पिछड़ा

bihar1 19 1503122167 भारत में भुखमरी की स्थिति चिंताजनक, 116 देशों की लिस्ट में भारत 101वें नंबर पर आया, पाकिस्तान, नेपाल और बांग्लादेश से भी पिछड़ा

भारत की जनसंख्या जितनी बढ़ रही है उसी तेजी से देश में भुखमरी भी बढ़ रही है। ग्लोबल हंगर इंडेक्स 2021 की जारी हुई लिस्ट के अनुसार भारत में भुखमरी की स्थिति चिंताजनक है। 116 देशों की लिस्ट में भारत 101वें नंबर पर आ गया है।

116 देशों की लिस्ट में भारत 101वें नंबर पर आया

भारत की जनसंख्या जितनी बढ़ रही है उसी तेजी से देश में भुखमरी भी बढ़ रही है। ग्लोबल हंगर इंडेक्स 2021 की जारी हुई लिस्ट के अनुसार भारत में भुखमरी की स्थिति चिंताजनक है। 116 देशों की लिस्ट में भारत 101वें नंबर पर आ गया है। ग्लोबल हंगर इंडेक्स रिपोर्ट में भारत को “अलार्मिंग” हंगर कैटेगरी रखा गया है। भारत भुखमरी के मामले में पाकिस्तान, नेपाल और बांग्लादेश से भी पिछड़ गया है। भारत उन 31 देशों में भी शामिल है जहां पर भुखमरी की समस्या काफी गंभीर मानी गई है।

पाकिस्तान, नेपाल और बांग्लादेश से भी पिछड़ा

भारत इसके अलावा अपने ज्यादातर पड़ोसी देशों से भी पीछे है। इस लिस्ट में पाकिस्तान की रैंक 92, नेपाल की रैंक 76 और बांग्लादेश की रैंक भी 76 है। बांग्लादेश, म्यांमार (71) और पाकिस्तान (92) की भी स्थिति चिंताजनक बताई गई है। इसके पहले 2020 की लिस्ट में भारत 94 वें नंबर पर था। पिछले साल 107 देशों की सूची जारी गई थी।  हालांकि रिपोर्ट के मुताबिक नागरिकों को खाना मुहैया कराने के मामले में भारत से उनकी स्थिति बेहतर है।

GHI स्कोर में भी आई गिरावट

GHI की वेबसाइट के मुताबिक, चीन, कुवैत और ब्राजील समेत कुल 18 देशों ने इस इंडेक्स में टॉप रैंक हासिल किया है। इन देशों का GHI स्कोर पांच से भी कम है। 116 देशों की इस लिस्ट में भारत से पीछे केवल 15 देश हैं। भारत के GHI स्कोर में भी गिरावट हुई है। साल 2000 में भारत का GHI स्कोर 38.8 था। यह साल 2012-2021 के बीच में गिरकर 28.8 – 27.5 के स्तर पर पहुंच गया है।

जीएचआई स्कोर चार पैमानों के आधार पर होता है तय

यह रिपोर्ट आयरलैंड की एजेंसी कन्सर्न वर्ल्डवाइड और जर्मनी के संगठन वेल्ट हंगर हिल्फ ने मिलकर तैयार की है। रिपोर्ट में जीएचआई स्कोर चार पैमानों के आधार पर तय किया जाता है- अल्पपोषण, चाइल्ड वेस्टिंग (पांच साल से कम उम्र के बच्चे जिनका वजन उनकी लंबाई के हिसाब से कम है), चाइल्ड स्टंटिंग (पांच साल से कम उम्र के बच्चे जिनकी उम्र के मुताबिक लंबाई कम है) और बाल मृत्यु दर (पांच साल से कम उम्र के बच्चों की मृत्यु दर)। भारत में चाइल्ड वेस्टिंग 1998-2002 के बीच 17.1 प्रतिशत थी, जो बढ़कर 2016-2020 के बीच 17.3 प्रतिशत हो गई।

भुखमरी के आंकड़ों पर भारत में सियासत शुरू

भुखमरी के आंकड़े जारी होते ही भारत में सियासत भी शुरू हो गई है। कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने इस मामले पर ट्वीट करते हुए केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा था। सिब्बल ने सरकार के गरीबी मिटाने, भूख मिटाने और भारत को ग्लोबल पावर बनाने के दावों को लेकर सवाल किया।

Related posts

J&K: मंत्री फारूक अंद्राबी के घर पर आंतकी हमला,1 पुलिसकर्मी घायल

kumari ashu

आतंकी हाफिज ने फिर उगला भारत के खिलाफ जहर, बांग्लादेश का बदला कश्मीर को आजाद करवाकर लेंगे

Breaking News

कार्मिक-प्रशिक्षण विभाग लेगा भ्रष्ट बाबूओं पर अंतिम निर्णय, सीवीसी की राय भिन्न होने पर होगी कार्रवाई

bharatkhabar