featured देश

हार के बाद कपिल सिब्बल का सोनिया गांधी पर सीधा वार, कहा – गांधी परिवार छोड़े पार्टी की कमान

जितिन प्रसाद के बीजेपी ज्वाइन करने पर कपिल सिब्बल का बयान, कांग्रेस के लिए कही बड़ी बात

पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों में देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस को करारी हार मिली। इसके बाद नेतृत्व परिवर्तन की मांग, कांग्रेस नेताओं में पलायन सहित कई मुद्दों को लेकर कांग्रेस के पुराने एवं वरिष्ठ नेताओं का दर्द छलक उठा है। लगभग 350 साल के इतिहास में कांग्रेस का सबसे ज्यादा पतन संभवत अभी नहीं हुआ था इस पतन को लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ एवं पुराने नेता बेहद चिंतित हैं और नेतृत्व परिवर्तन की मांग कर रहे। इन्हीं में से एक कांग्रेस के दिग्गज नेता कपिल सिब्बल है।

बता दे कांग्रेस में सुधार की मांग करने वाले ग्रुप 23 नेताओं में कपिल सिब्बल ऐसे पहले नेता हैं। जिन्होंने खुले तौर पर सोनिया गांधी को पद छोड़ने की अपील की है। उन्होंने कहा कि गांधी परिवार को कांग्रेस नेतृत्व का भार छोड़ देना चाहिए और किसी दूसरे नेता को मौका देना चाहिए।

कांग्रेस के दिग्गज नेता कपिल सिब्बल ने इंग्लिश अखबार इंडियन एक्सप्रेस के साथ एक साक्षात्कार में कहा कि वह ना तो विधानसभा चुनाव में पार्टी की हार से हैरान है और ना ही सीडब्ल्यूसी के फैसले से जिसमें कहा गया है कि वह सोनिया गांधी के नेतृत्व पर विश्वास रखते हैं। उन्होंने आगे कहा कि सीडब्ल्यूसी के बाहरी संख्या में नेताओं के दृष्टिकोण काफी अलग है।

इस दौरान कपिल सिब्बल से पार्टी नेतृत्व पर पूछे गए सवाल पर उन्होंने जवाब दिया कि हमने जो पराजय देखी है उसके बाद गांधी परिवार कोई स्थान छोड़ देना चाहिए और किसी नए व्यक्ति को मौका देना चाहिए।

उन्होंने आगे कहा कि 8 साल से पार्टी का लगातार का पतन हो रहा है लेकिन इसके बावजूद भी वाह चैट नहीं रहे तो कांग्रेस के लिए बहुत बड़ी दुर्भाग्यपूर्ण बात है।

गौरतलब है कि 2020 में कांग्रेस में सुधार की मांग को लेकर ग्रुप 23 नेताओं का एक समूह बनाया गया था। और अब ये ही नेता नेतृत्व पर सवाल खड़े कर रहे हैं।

177 सांसदों और विधायकों ने छोड़ी पार्टी

कपिल सिब्बल ने कहा कि वर्तमान चुनावी परिणामों से मैं बिल्कुल भी हैरान नहीं हूं 2014 से हम लगातार हार रहे हैं हम एक के बाद एक राज्य में हार रहे हैं। दुर्भाग्य की बात यह है कांग्रेस से ऐसे नेताओं का पलायन हो रहा है जो पार्टी नेटवर्क पर भरोसा रखते थे कपिल सिब्बल ने आगे कहा कि 2014 से अब तक करीब 1 177 सांसद और विधायक सहित 222 उम्मीदवार कांग्रेस छोड़कर चले गए हैं।

राहुल पर भी सिब्बल का वार

कपिल सिब्बल ने कहा कि हम यह मानकर चल रहे हैं कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी नहीं बल्कि सोनिया गांधी हैं लेकिन राहुल गांधी पंजाब जाते हैं। चरणजीत चन्नी को सीएम उम्मीदवार घोषित कर देते हैं। आखिर वह यह सब किस अधिकार से कर रहे हैं। वह पार्टी अध्यक्ष नहीं है लेकिन फिर भी राहुल गांधी सभी निर्णय लेते हैं। इस तरह वह कांग्रेस के वास्तविक अध्यक्ष ऐसे में कांग्रेस के भीतर के लोग कह रहे हैं उन्हें कमान फिर दे देनी चाहिए जबकि वास्तविकता यह है कि वह वास्तविक अध्यक्ष है। बेशक वह विधायक कांग्रेस अध्यक्ष बनाए जाएं लेकिन इससे कोई फर्क नहीं पड़ने वाला।

 

Related posts

(COVID-19): भारत में बढ़ता जा रहा संक्रमितों का आंकड़ा, भारी तादाद में मौत

Aditya Gupta

पीएम मोदी: 99 फीसदी चीजें 18 प्रतिशत जीएसटी के दायरे में लाने की योजना

Ankit Tripathi

कंबोडिया के प्रधानमंत्री का राष्ट्रपति भवन में औपचारिक स्वागत

Rani Naqvi