September 26, 2022 11:45 pm
featured जम्मू - कश्मीर

अमरनाथ यात्रा का शांतिपूर्ण समापन, चंदनबाड़ी से शेषनाग पहुंची छड़ी मुबारक

Amarnath 01 अमरनाथ यात्रा का शांतिपूर्ण समापन, चंदनबाड़ी से शेषनाग पहुंची छड़ी मुबारक

 

पवित्र छड़ी मुबारक बुधवार को चंदनबाड़ी से शेषनाग की ओर रवाना हुई। शेषनाग में रात को विश्राम होगा।

यह भी पढ़े

लाल सिंह चड्ढा की धीमी शुरुआत, आमिर खान की बढ़ी मुश्किलें

इसके बाद वीरवार तड़के महंत दीपेंद्र गिरि साधुओं के समूहों के साथ छड़ी मुबारक को लेकर पवित्र गुफा पहुंचेंगे और श्रावण पूर्णिमा के अवसर पर बाबा अमरनाथ की पूजा-अर्चना करेंगे। उसके बाद वार्षिक अमरनाथ यात्रा के आखिरी दर्शन होंगे। बाबा अमरनाथ की गुफा में धार्मिक अनुष्ठान और दर्शनों के पश्चात शाम को छड़ी वापस पहलगाम के लिए रवाना होगी।

amarnath yatra अमरनाथ यात्रा का शांतिपूर्ण समापन, चंदनबाड़ी से शेषनाग पहुंची छड़ी मुबारक

इसके उपरांत 12 अगस्त के दिन लिद्दर नदी के किनारे पूजन तथा विसर्जन होगा। इसके साथ ही श्री अमरनाथ यात्रा समाप्त हो जाएगी। वहीं, शेषनाग पहुंचने पर छड़ी मुबारक की पूजा-अर्चना की गई। दशनामी अखाड़े के महंत दीपेंद्र गिरि सहित देशभर से आए साधु-संत जत्थे में शामिल हैं।

amarnath 1 अमरनाथ यात्रा का शांतिपूर्ण समापन, चंदनबाड़ी से शेषनाग पहुंची छड़ी मुबारक

इस साल तीन लाख से अधिक लोगों ने पवित्र गुफा में बाबा बर्फानी के दर्शन किए। गोरतलब है कि खराब मौसम के अलावा पिछले महीने बादल फटने से अचानक आई बाढ़ में 12 से अधिक तीर्थयात्रियों की मौत हो गई थी। वार्षिक अमरनाथ यात्रा हालांकि छह से आठ लाख लोगों के शामिल होने की उम्मीद थी, लेकिन यह संख्या तीन लाख से अधिक रही। राहत की बात यह रही कि भारी सुरक्षा व्यवस्था के कारण इस साल तीर्थ यात्रियों पर आतंकवादी हमला नहीं किया।

amarnath yatra 1529641273 618x347 अमरनाथ यात्रा का शांतिपूर्ण समापन, चंदनबाड़ी से शेषनाग पहुंची छड़ी मुबारक

गौरतलब है कि घाटी में अप्रैल के बाद से आतंकवादियों की ओर से लक्षित हत्याओं की एक श्रृंखला के बाद तीर्थयात्रियों की सुरक्षा को लेकर आशंका जतायी जा रही है। इसकी वजह आतंकवादियों की ओर से घाटी में अल्पसंख्यक हिंदू समुदाय के सदस्यों सहित कई लोगों की हत्या थीं।

amarnath yarta bus, bus accident, jammu srinagar haghway, amarnath

amarnath yatra attack, amarnath yatri, woman pilgrim, succumbs to injuries

 

‘छरी मुबारक’अंतिम पूजा के लिए कश्मीर के हिमालय में स्थित भगवान शिव के पवित्र गुफा मंदिर में पहुंची, जो गुरुवार को रक्षाबंधन के मौके पर इस साल की श्री अमरनाथ यात्रा के औपचारिक समापन का प्रतीक है। तैंतालीस दिनों तक चलने वाली वार्षिक श्री अमरनाथ यात्रा कोरोना वायरस के कारण दो साल बाद 30 जून से शुरू हुई थी।

Related posts

प्रयागराज में कोरोना विस्फोट, एक दिन में मिले एक हजार से ज्यादा संक्रमित

Aditya Mishra

28 फरवरी 2022 का पंचांग: सोमवार, जानें आज का शुभ मुहूर्त और नक्षत्र

Neetu Rajbhar

Breaking News