featured देश

नहीं रहे हिमाचल कांग्रेस के दिग्गज नेता जीएस बाली, 67 साल की उम्र में दुनिया को कहा अलविदा

gs bali नहीं रहे हिमाचल कांग्रेस के दिग्गज नेता जीएस बाली, 67 साल की उम्र में दुनिया को कहा अलविदा

हिमाचल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व परिवहन मंत्री जीएस बाली का देहांत हो गया। लंबे समय से बीमार चल रहे पूर्व मंत्री बाली की तबियत अचानक बिगड़ गई थी।

नहीं रहे हिमाचल कांग्रेस के दिग्गज नेता जीएस बाली

हिमाचल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व परिवहन मंत्री जीएस बाली का देहांत हो गया। लंबे समय से बीमार चल रहे पूर्व मंत्री बाली की तबियत अचानक बिगड़ गई थी। उन्होंने दिल्ली स्थित एम्स में भर्ती करवाया गया था। जहां उन्होंने शुक्रवार देर रात आखिरी सांस ली। जीएस बाली 67 साल के थे। वह पिछले कुछ समय से लगातार अस्वस्थ चल रहे थे और दिल्ली के एम्स में इलाज करवा रहे थे।उनके बेटे रघुवीर सिंह बाली ने इंटरनेट मीडिया के माध्यम से उनके निधन की सूचना दी है। बताया जा रहा है कि एम्स में उनका किडनी ट्रांसप्लांट हुआ था।

पैतृक निवास कांगड़ा लाया जाएगा पार्थिव शरीर

आज जीएस बाली का पार्थिव शरीर उनके पैतृक निवास कांगड़ा लाया जाएगा। यहां लोग उनके अंतिम दर्शन कर सकेंगे। रविवार सुबह ओबीसी भवन नगरोटा में उनकी पार्थिव देह पर लोग श्रद्धासुमन अर्पित कर सकेंगे। दोपहर बाद पूरे सम्मान के साथ श्री चामुंडा नंदिकेश्वर धाम में उनका अंतिम संस्कार होगा। बाली के निधन कांग्रेस पार्टी और पूरे प्रदेश में शोक की लहर दौड़ गई है।

चार बार विधायक और 2 बार मंत्री रहे जीएस बाली

27 जुलाई 1954 को जन्मे जीएस बाली नगरोटा बगवां से चार बार विधायक और दो बार मंत्री रहे। साल 1998 में वह पहली बार नगरोटा बगवां विधानसभा क्षेत्र से विधायक चुने गए। इसके बाद लगातार तीन बार 2003, 2007 और 2012 में जीत दर्ज कर विधानसभा पहुंचे। बाली 2003 और 2012 में कांग्रेस सरकार में वरिष्ठ मंत्री रहे। बाली 1990 से 1997 तक कांग्रेस के विचार मंच के संयोजक, सेवादल के अध्यक्ष, प्रदेश कांग्रेस कमेटी के संयुक्त सचिव जैसे पदों पर रहे।

दो कद्दावर नेताओं के निधन से कांग्रेस को बड़ा झटका

कांग्रेस के पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के निधन के बाद एक और कद्दावर नेता का निधन होने से पार्टी को बड़ा झटका लगा है। प्रदेश के सबसे बड़े जिला कांगड़ा से जीएस बाली वरिष्ठ नेता थे। मंडी उपचुनाव में वह बतौर प्रभारी थे, लेकिन उसके बाद से वह अस्स्वस्थ चल रहे थे।  वहीं मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने भी जीएस बाली के निधन पर दुख जताया है।

Related posts

UP News: पीएम मोदी ने चौरी-चौरा पर जारी किया डाक टिकट, बोले- आग थाने में नहीं, जन-जन के मन में लगी थी

Pradeep Tiwari

पश्चिम बंगाल में दो लोकसभा और एक विधानसभा सीटों के लिए उपचुनाव कल

Rahul srivastava

दिल्ली MCD चुनाव: चार सीटों पर चुनाव से पहले ही हार गई भाजपा!

Rahul srivastava