January 17, 2022 1:33 am
featured देश

दो दिवसीय राष्ट्रीय पदाधिकरियों की बैठक का समापन, केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे बोले- ब्राह्मण का होगा उत्थान तो राष्ट्र का होगा निर्माण

WhatsApp Image 2021 09 06 at 8.39.06 PM दो दिवसीय राष्ट्रीय पदाधिकरियों की बैठक का समापन, केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे बोले- ब्राह्मण का होगा उत्थान तो राष्ट्र का होगा निर्माण
दो दिवसीय राष्ट्रीय पदाधिकरियों की बैठक का समापन

पंडित दीनदयाल उपाध्याय मार्ग नई दिल्ली में आयोजित दो दिवसीय राष्ट्रीय पदाधिकरियों की बैठक का समापन हो चुका है। बैठक में केंद्रीय मंत्री अश्विनी कुमार चौबे मौजूद रहे। इस दौरान उन्होंने कहा कि भगवान श्री परशुराम जी की महिमा का वर्णन शब्दों के सीमा में संभव नही है। वह योग वेद और नीति में निष्णात थे। उन्होंने कहा कि ब्रहम शास्त्र एवं विभिन्न दिव्यास्त्रों के संचालन में भी पारंगत थे यानी जीवन और अध्यात्म की हर विधा के महारथी थे।  उन्होंने कहा कि आज भगवान श्री परशुराम जी के शिक्षाओं की समाज में बहुत ही आवश्यकता है| ब्राह्मण वर्ग को चाहिए की वह सम्पूर्ण हिन्दू समाज का बौद्धिक नेतृत्व करते हुए पुनः अपने मूल स्वरुप को प्राप्त करे।

वहीं इस दौरान राष्ट्रीय परशुराम परिषद के संस्थापक और संरक्षक सुनील भराला ने कहा कि श्री परशुराम विष्णु के छठवें अवतार हैं। परशुराम पशुपति का तप कर परशुधारी बने और उन्होंने शास्त्र का प्रयोग कुप्रवित्तियों का दमन करने के लिए किया। उन्होंने कहा कि कुछ लोग कहते हैं की परशुराम जी ने एक जाति विशेष का सदैव विरोध किया लेकिन यह तार्किक सत्य नहीं है। तथ्य तो यह है कि संहार और निर्माण दोनों में कुशल परशुराम जाति विरोधी नहीं अपितु अवगुण विरोधी थे| आज समाज में श्री परशुराम विश्वविध्यालय की स्थापना की नितांत आवश्यकता है। ताकि ब्राह्मणों सहित समस्त हिन्दू समाज के प्रतिभावान जरूरतमंद बच्चों को विश्व स्तरीय शैक्षणिक संस्थान प्राप्त हो सके।

इस मौके पर राष्ट्रीय परशुराम परिषद के कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष अजय कुमार झा ने कहा कि आपको बताते हुए अत्यंत प्रसन्नता हो रही है कि 3 साल के अल्पकाल खंड में संगठन ने अनेक ब्राह्मण महाकुंभ किए। इनमें 20 – 20 हजार से भी अधिक की संख्या उपस्थित रही। मेरठ पश्चिमी उत्तर प्रदेश सहित देश के विभिन्न अंचलों में आयोजित हुए इन आयोजनों में समाज सहित सरकारों तक यह स्पष्ट संकेत प्रेषित किया कि राष्ट्रीय परशुराम परिषद के नेतृत्व की हुंकार ने हजारों ब्राह्मण संगठनों को अपने साथ जोड़ कर एक विशाल वटवृक्ष का स्वरूप धारण कर लिया है।

वहीं परशुराम स्वाभिमान सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष महेश शर्मा ने कहा कि आगामी समय में आप सभी के पुरुषार्थ से आर्थिक आधार पर आरक्षण, युवाओं के प्रशिक्षण कार्यकर्ता एवं संगठन कौशल के लिए नेतृत्व विकास लव जिहाद के प्रति जागरूकता, यूपीएससी में इस्लामिक स्टडीज के विषयों को हटाने को लेकर एवं कश्मीरी पंडितों के सम्मान एवं उनकी पुनर्स्थापना के लिए आंदोलन किये जायेंगे।

पूजा कपिल मिश्रा ने कहा कि परशुराम शक्ति वाहिनी ने मातृशक्ति सम्मेलनों के माध्यम से समाज की महिलाओं के सशक्तिकरण का संकल्प उठा रखा है। शक्ति वाहिनी शीघ्र ही सम्पूर्ण देश भर में अपना कार्य विस्तार करेगी एवं लव जिहाद के विषय पर भी समाज में जागरूकता लाने का कार्य करेगी।

Related posts

यूपी में सेल्फी लेना पड़ेगा महंगा, खानी पड़ सकती है जेल की हवा

Breaking News

यमन ने सऊदी पर दागी मिसाइल, समय रहते सउदी ने कर दी नष्ट

Breaking News

बिहार में बढ़ रही है वायरल फीवर की रफ्तार, सबसे अधिक बच्चे प्रभावित

Nitin Gupta