featured देश बिज़नेस

बजट 2022: जानिए कैसा होगा मोदी सरकार का 10वां बजट, अर्थव्यवस्था में क्या कुछ आएगा बदलाव?

budget 2022 बजट 2022: जानिए कैसा होगा मोदी सरकार का 10वां बजट, अर्थव्यवस्था में क्या कुछ आएगा बदलाव?

कल से बजट सत्र की शुरुआत होने जा रही है। 1 फरवरी को मोदी सरकार अपना 10वां बजट पेश करने जा रही है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण लोकसभा में 11 बजे बजट पेश करेंगी। 31 जनवरी को संसद का बजट सत्र राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण के साथ शुरू होगा।

Budget session 2022: Check date, time and other details here

1 फरवरी को मोदी सरकार पेश करेगी अपना 10वां बजट पेश

कल से बजट सत्र की शुरुआत होने जा रही है। 1 फरवरी को मोदी सरकार अपना 10वां बजट पेश करने जा रही है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण लोकसभा में 11 बजे बजट पेश करेंगी। 31 जनवरी को संसद का बजट सत्र राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण के साथ शुरू होगा। इस बार बजट सत्र के पहले दो दिनों के दौरान संसद के दोनों सदनों में शून्यकाल और प्रश्नकाल नहीं होगा। राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद संसद के सेंट्रल हॉल में दोनों सदनों को संबोधित करेंगे। इसके बाद वित्‍त मंत्री में सदन में आर्थिक सर्वेक्षण 2022-21 पेश करेंगी।

बजट में इन क्षेत्रों में रह सकता है फोकस

वहीं इस बार के बजट सत्र में सरकार देश में हरित हाइड्रोजन को बढ़ावा देने के लिए लक्षित वित्तीय प्रोत्साहनों के अलावा कोष का आवंटन कर सकती है। सरकार ने 2021 में राष्ट्रीय हाइड्रोजन मिशन शुरू किया है। इसके साथ ही बजट में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के पिटारे से इस बार रेलवे के लिए ज्यादा पैसों को बंदोबस्त किया जा सकता है। बजट में साथ ही कई शहरों के लिए सेमी हाई स्पीड ट्रेनें शुरू करने की घोषणा की जा सकती है। बजट में रोल स्टॉक्स पर भी फोकस रह सकता है।

निर्मला सीतारमण चौथी बार पेश करेंगी बजट

इस बार भी पेपरलेस बजट होगा। वित्‍त मंत्री टैबलेट के जरिए बजट पेश करेंगी। बजट को कोई हार्ड कॉपी नहीं छापी गई है। इसे मोबाइल ऐप से पढ़ा और डाउनलोड किया जा सकता है। बता दें कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण एक फरवरी, 2022 को अपना चौथा बजट पेश करेंगी। तमिलनाडु के मदुरै से आने वाली निर्मला ने बीजेपी प्रवक्ता से लेकर वित्त मंत्री बनने तक काफी लंबा सफर तय किया है। कोविड-19 के समय आर्थिक पैकेज घोषित करने से लेकर आर्थिक सुधारों के जरिए निर्मला ने आम लोगों के बीच अपनी एक अलग पहचान बनाई। बता दें कि भारत में बजट का इतिहास 160 साल से भी ज्यादा पुराना है. इस दौरान बजट में कई बड़े बदलाव हो चुके हैं। बजट पेश किए जाने के दिन से लेकर समय तक को बदला जा चुका है।

Related posts

किसान की समस्या और दुःख को हम मोदी जी तक पहुंचाएंगे : राहुल

bharatkhabar

बसपा प्रमुख मायावती ने लगवाई कोविड वैक्सीन, केंद्र व जनता से की अपील

Shailendra Singh

यशवंत सिन्हा का मोदी पर वार, बोले 700 साल पहले तुगलक ने भी की थी नोटबंदी

Rani Naqvi