आपकी गाड़ी में लगा है FASTag, ध्‍यान से पढ़ लीजिए ये 10 बिंदु   

लखनऊ: देशभर में सभी नेशनल हाईवे पर चार पहिया वाहनों और इससे ऊपर की श्रेणी के वाहनों के लिए फास्‍टैग (FASTag) 15 फरवरी से अनिवार्य हो चुका है।

यह भी पढ़ें: संत रविदास जयंती: काशी पहुंचीं प्रियंका गांधी, रविदास मंदिर में टेका मत्‍था     

ऐसे में फास्‍टैग को लेकर अभी भी लोगों के मन में कई सवाल हैं, कि अगर फास्‍टैग उनके वाहन से कहीं गिर जाए तो उसमें बचे बैलेंस का क्‍या होगा? क्‍या एक वाहन का फास्‍टैग दूसरे वाहन में लगाया जा सकता है? ऐसे ही तमाम महत्‍वपूर्ण सवालों पर विशेषज्ञों के क्‍या जवाब हैं, उन्‍हें 10 बिंदुओं में समझ लीजिए…

  • फास्‍टैग पेमेंट पर डिस्काउंट- टोल प्‍लाजा पर फास्‍टैग पेमेंट करने वाले कस्‍टमर्स को 10 फीसदी कैशबैक मिलता है। यह राशि उनके फास्‍टैग अकाउंट में एक सप्‍ताह के अंदर डाल दिया जाता है।
  • हर गाड़ी के लिए अलग-अलग फास्‍टैग- सबसे खास बात है कि अगर आपके पास दो या चार गाड़ियां हैं तो हर वाहन के लिए आपको अलग-अलग फास्‍टैग लेना पड़ेगा।
  • एक वाहन का फास्‍टैग दूसरे वाहन में- आप एक गाड़ी का फास्‍टैग दूसरी गाड़ी में इस्‍तेमाल नहीं कर सकते, क्‍योंकि सभी वाहनों के लिए फास्‍टैग KWC डॉक्‍यूमेंट्स जमा करने के बाद मिलते हैं। ऐसे में अगर आपने कार के लिए खरीदे गए फास्‍टैग का प्रयोग ट्रक में किया तो ऐसे फास्‍टैग को ब्‍लैकलिस्‍ट कर दिया जाएगा। साथ ही उपयोगकर्ताओं को ऐसा न करने की हिदायत दी जाती है।
  • फास्‍टैग खोने पर- अगर आपका फास्‍टैग खो गया है तो आपको इसे जारी करने वाली कंपनी के कस्‍टमर केयर नंबर पर बात करके उसे बंद करनावा पड़ेगा। इसके बाद जब आप नया फास्‍टैग अकाउंट लेंगे तो कंपनी आपके बचे बैलेंस को नए अकाउंट में भेज देगी।
  • अकाउंट से सही पैसा कटा या ज्‍यादा- टोल प्‍लाजा पर फास्‍टैग अकाउंट से जब पैसा कटता है तो आपके फोन पर एक मैसेज आता है। साथ ही किस टोल प्लाजा पर कितना चार्ज लगता है इसके लिए डिस्प्ले लगी होती है, जिसमें पूरी जानकारी लिखी होती है।
  • टोल प्लाजा के 10 किलोमीटर की रेंज में फास्‍टैग की जरूरत- अगर आप किसी टोल प्‍लाजा के 10 किमी रेंज में रहते हैं, तब भी आपको फास्‍टैग लेने की आवश्‍यकता होगी।
  • किसी दूसरे शहर में शिफ्ट होने पर- अगर आप एक शहर से किसी दूसरे शहर में शिफ्ट हो रहे हैं तो आपको फास्‍टैग जारी करने वाली कंपनी के कस्टमर केयर नंबर पर बात करके अपना एड्रेस (पता) अपडेट कराना चाहिए।
  • एक वाहन में एक से ज्यादा फास्‍टैग- आप एक वाहन पर एक से ज्‍यादा फास्‍टैग का इस्‍तेमाल नहीं करत सकते। ऐसा करने से आपको परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।
  • कार बेचने या ट्रांसफर करने पर- अपनी कार बेचने या उसे किसी और के नाम ट्रांसफर करने पर आपको फास्‍टैग जारी करने वाली कंपनी को जानकारी देनी पड़ेगी।
  • नेशनल हाईवे के अलावा कहीं और फास्‍टैग का इस्‍तेमाल- फिलहाल, फास्‍टैग का इस्‍तेमाल राष्‍ट्रीय मार्गों पर किया जा रहा है। हालांकि, राज्य सरकार राजमार्गों के लिए भी इसका विस्तार करने की योजना पर काम कर रही है। साथ ही फास्‍टैग के माध्‍यम से पार्किंग शुल्‍क और सड़क किनारे दूसरी सुविधाओं के लिए इस्तेमाल के लिए विचार किया जा रहा है।

जेपी नड्डा का राजस्थान दौरा, 2 मार्च को कार्यसमिति की बैठक में शामिल होंगे नड्डा

Previous article

नाबालिग बच्ची के साथ कर रहा था गंदा काम, पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर शुरू की आरोपी युवक की तलाश

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured