देश मनोरंजन

43 कलाकारों को मिलेगा संगीत नाटक अकादेमी पुरस्कार

WhatsApp Image 2022 04 07 at 8.51.14 PM 1 43 कलाकारों को मिलेगा संगीत नाटक अकादेमी पुरस्कार

नई दिल्ली। कला प्रेमियों के इंतजार की घड़ियां अब खत्म होने वाली हैं। संगीत नाटक अकादेमी 9 अप्रैल 2022 को पुरस्कार अर्पण समारोह का आयोजन करने जा रही है।

यह भी पढ़े

ये है बूचा नरसंहार का विलेन, नरसंहार का ORDER, कहा 50 से कम उम्र वाले सभी मर्दों को मार दो

 

इस समारोह में प्रख्यात संगीतकारों, नर्तकों और थिएटर कलाकारों को साल 2018 के लिए संगीत नाटक अकादेमी पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। भारत में प्रदर्शन कला वर्ग में दिए जाने वाला यह सबसे प्रतिष्ठित राष्ट्रीय पुरस्कार है। इस साल अकादेमी पुरस्कार दिल्ली के विज्ञान भवन में माननीय उप राष्ट्रपति श्री वेंकैया नायडू द्वारा दिया जाएगा।

इस पुरस्कार अर्पण समारोह में मुख्य अतिथि के तौर पर माननीय उप राष्ट्रपति श्री एम वैंकेया नायडू, सम्मानीय अतिथि, माननीय केंद्रीय संस्कृति मंत्री श्री जी. किशन रेड्डी और माननीय संसदीय कार्य और संस्कृति राज्य मंत्री श्रीमती मीनाक्षी लेखी उपस्थित रहेंगी। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता संगीत नाटक अकादेमी और ललित कला अकादेमी की अध्यक्ष उमा नंदूरी करेंगी।

1952 से चली आ रही परंपरा

संगीत नाटक अकादेमी की सचिव टेमसुनारो जमीर ने बताया कि पुरस्कार वितरण की परंपरा 1952 से चली आ रही है। इस कार्यक्रम में संगीत, नृत्य, रंगमंच, पारंपरिक कलाओं, कठपुतली कला और प्रदर्शन कला में कलाकारों द्वारा दिए गए विशिष्ट योगदान के लिए उन्हें रत्न सदस्यता और अकादेमी पुरस्कार से सम्मानित किया जाता है। पुरस्कारों का निर्णय अकादेमी महापरिषद् लेती है, जिसमें प्रतिष्ठित संगीतकार, नर्तक, थिएटर कलाकार और विद्वान शामिल होते हैं। संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार प्रदर्शन कला के क्षेत्र में प्रदर्शन करने वाले कलाकारों के साथ-साथ शिक्षकों और विद्वानों को भी यह राष्ट्रीय सम्मान दिया जाता है। यह सम्मान न केवल उत्कृष्टता और उपलब्धियों के सर्वोच्च मानक का प्रतीक है, बल्कि निरंतर व्यक्तिगत कार्य और योगदान को मान्यता प्रदान करता है।

अकादेमी सदस्यता के लिए चुने गए 4 “रत्न”

संगीत नाटक अकादमी की आम परिषद, राष्ट्रीय संगीत, नृत्य और ड्रामा अकादेमी, नई दिल्ली ने साल 2018 के लिए चार जानी-मानी हस्तियों, जा‍किर हुसैन, सोनल मानसिंह, जतिन गोस्वामी और तिरुविदैमरुदुर कुपैय्या कल्याणसुंदरम को सर्वसम्मति से अकादमी रत्न सदस्यता के लिए चुना है।

13 संगीतकारों को मिलेगा अकादेमी पुरस्कार

संगीत के क्षेत्र में 13 संगीतकारों को अकादेमी पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा, जिसमें 2 पुरस्कार संयुक्त रूप से दिए जाएंगे।
नाम संगीत

1.मणि प्रसाद हिंदुस्तानी गायन
2.मधुप मुद्गल हिंदुस्तानी गायन
3.तरुण भट्टाचार्य हिंदुस्तानी वाद्य संगीत (संतूर)
4.तेजेन्द्र नारायन मजुमदार हिंदुस्तानी वाद्य संगीत (सरोद)
5.अलमेलू मणी कर्नाटक गायन
6.मल्लादि सूरिबाबु कर्नाटक गायन
7.एस. कासिम और एस. बाबू कर्नाटक वाद्य संगीत (नागस्वरम) (संयुक्त पुरस्कार)
8.गणेश राजगोपालन और कुमरेश राजगोपालन कर्नाटक वाद्य संगीत (वायलिन) (संयुक्त पुरस्कार)
9.सुरेश ईश्वरा वाडकर सुगम संगीत
10..शांति हीरानंद सुगम संगीत
11.हेसनाम असंबि देवी मणिपुरी नट संकीर्तन

नृत्य के क्षेत्र में 10 नर्तकों को मिलेगा अकादेमी पुरस्कार

नृत्य के क्षेत्र में 10 नर्तकों को अकादेमी पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा, जिसमें एक पुरस्कार संयुक्त रूप से दिया जाएगा।
नाम नृत्य

1.राधा श्रीधर भरतनाट्यम
2.इषिरा परिख और मौलिक शाह कथक (संयुक्त पुरस्कार)
3.अखाम लक्ष्मी देवी मणिपुरी
4.सुरुपा सेन ओडिसी
5.टंकेस्वर हजारिका बरबायन सत्रिय
6.गोपिका वर्मा मोहिनीआट्टम
7.दीपक मजूमदार समसामयिक नृत्य
8.पशुमूर्ति रामलिंगा शास्त्री कूचिपूड़ि
9.तपन कुमार पट्टनायक छउ

रंगमंच में सम्मानित होंगे 8 कलाकार

रंगमंच के क्षेत्र में 8 कलाकारो को अकादेमी पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा।

नाम कलाकार

1.राजीव नाईक नाट्य लेखन
2.ललत्लुआङलिआना खिआङते नाट्य लेखन
3.संजय उपाध्याय निर्देशन
4.सुहास जोशी अभिनय
5.टीकम जोशी अभिनय
6.स्वपन नंदी मूकाभिनय
7.भागवत ए एस नंजप्पा यक्षगान
8.ए. एम. परमेश्वरन (कुट्टन) चाक्यार कूटियाट्टम

पारंपरिक/ लोक संगीत में 5 संगीतकारों को मिलेगा सम्मान
नाम संगीतकार
1.मालिनी अवस्थी लोक संगीत, उत्तर प्रदेश
2.गाज़ी ख़ान बरना लोक संगीत (खड़ताल), राजस्थान
3.नरेंद्र सिंह नेगी लोक संगीत, उत्तराखंड
4.निरंजन राज्यगुरु लोक संगीत, गुजरात
5.सोमदत्त बट्टू लोक संगीत, हिमाचल प्रदेश
पारंपरिक क्षेत्र में पांच कलाकार होंगे सम्मानित
पारंपरिक नृत्य / रंगमंच और कठपुतली नचाने के क्षेत्र में 5 कलाकार चयनित हुए है।
1.अर्जुन सिंह धुर्वे लोक नृत्य, मध्य प्रदेश
2.मोहम्मद सीदीक भगत लोकनाट्य (भांड पाथेर), जम्मू-कश्मीर
3.कोटा सच्चिदानंद शास्त्री हरिकथा, आंध्र प्रदेश
4. अनुपमा होस्केरे धागा पुतुल, कर्नाटक
5. हेम चंद्र गोस्वामी मुखौटा निर्माण, असम

इसके साथ अभिनय कला में सम्पूसर्ण योगदान/छात्रवृत्ति के क्षेत्र में अकादमी पुरस्कार 2018 के लिए श्री दीवान सिंह बजेली को विद्वता और श्री पुरू दधीच को समग्र योगदान के लिए चुना गया है।

Related posts

गैलेक्सी हॅास्पिटल में देश का पहला गर्भाशय ट्रांसप्लांटेशन

Srishti vishwakarma

सिंधु जल संधि: पाकिस्तान को पानी देने पर होगा फैसला

shipra saxena

BJP राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक आज, सुषमा स्वराज नहीं होगी शामिल

kumari ashu