September 28, 2021 7:16 am
featured देश

बच्चों पर तीसरी लहर का खतरा: जल्द बच्चों के लिए आएगी वैक्सीन, कई वैक्सीन के ट्रायल पूरे

vaccine

कोरोना की तीसरी लहर में बच्चों पर कोरोना का कहर बरपने की आशंका है। ऐसे में सरकार ने पहले ही तैयारी कर ली है। दो हफ्ते में zydus cadila की वैक्सीन को इमरजेंसी यूज की अनुमति मिल सकती है।

तीसरी लहर में बच्चों का डर, सरकार ने पूरी की तैयारी

कोरोना की दूसरी लहर के विकराल रूप के बाद अब सरकार तीसरी लहर को लेकर किसी तरह का रिस्क नहीं लेना चाहती। तीसरी लहर में बच्चों पर कोरोना का संकट मंडराने की आशंका जताई जा रही है। जिसके बाद सरकार की ओर से बच्चों के वैक्सीनेशन पर जोर दिया जा रहा है। इसी बीच केंद्र की ओर से कहा गया कि दो हफ्तों में zydus cadila की वैक्सीन को इमरजेंसी यूज की अनुमति मिल सकती है। इस वैक्सीन का 12 से 18 साल तक के बच्चों पर ट्रायल हुआ है। भारत बायोटेक की वैक्सीन का 2 से 18 साल के बच्चों पर ट्रायल लगभग पूरा हो चुका है।

नोवावैक्स के ट्रायल को मंजूरी

बच्चों पर कोरोना ज्यादा प्रभावी न हो इसके लिए वैक्सीन और उसकी गुणवत्ता पर जोर दिया जा रहा है। भारत बायोटेक की वैक्सीन का ट्रायल पूरे होने जा रहा है। तो वहीं दूसरी ओर नोवावैक्स का भी बच्चों में ट्रायल की अनुमति मिल गई है। बायो ई ने भी ट्रायल की अनुमति मांगी है।

ZycovD के तीसरे चरण का ट्रायल पूरा

zydus cadila की कोरोना वैक्सीन ZycovD के तीसरे चरण का ट्रायल लगभग पूरा हो चुका है। अगले एक दो हफ्ते में इसकी इमरजेंसी इस्तेमाल के लिए मंजूरी मिल सकती है। नीति आयोग के सदस्य डॉ वी के पॉल ने कहा है कि जहां तक बच्चों की वैक्सीन का सवाल है, कुछ देशों ने इसे लागू किया है। zydus cadilla की वैक्सीन जिसका बच्चों पर ट्रायल हुआ है उसको इमरजेंसी यूज देने के बारे में जल्द कुछ फैसला अगले एक-दो हफ्ते में हो जाएगा। zycovD वैक्सीन ने कोरोना की वैक्सीन के लिए सेंट्रल ड्रग स्टैण्डर्ड कंट्रोल आर्गेनाईजेशन के पास इमरजेंसी यूज इस्तेमाल की मंजूरी मांगी है।

तीसरी लहर में बच्चों पर संक्रमण का खतरा

दरअसल शोधकर्ताओं और डॉक्टरों का मानना है कि तीसरी लहर में कोरोना बच्चों पर कहर बरपाएगा। देशभर में अभी 18 प्लस के लोगों को वैक्सीनेट करने का काम जोरों पर चल रहा है। ऐसे में बच्चों को भी तीसरी लहर के संक्रमण से ज्यादा नुकसान न पहुंचे इसके लिए वैक्सीन के ट्रायल पर ट्रायल किए जा रहे हैं। भारत बायोटेक की कोवैक्सीन का 2 से 18 साल के उम्र के बच्चों पर ट्रायल आखरी चरण में है। नोवावैक्स और बायोलॉजिकल ई ने बच्चों में कोरोना वैक्सीन के ट्रायल की इजाजत मांगी है।

Related posts

योगी आदित्यनाथ बोेले: इस बार 74+ सीट, MP-MLA Fight पर कार्रवाई की ‘घूंटी’

bharatkhabar

जैश :- भारतीय लड़ाकू विमानों ने हमारे जिहादी मदरसे को तबाह कर दिया है

bharatkhabar

बिहार के मुजफ्फरपुर में मिली ईवीएम, वीवीपैट, होटल में छापेमारी के बाद मजिस्ट्रेट को नोटिश जारी

bharatkhabar