September 29, 2022 12:15 am
featured दुनिया देश

अफ़ग़ानिस्तान: अफीम की खेती से तालिबान की अर्थव्यवस्था पर पड़ता है फर्क ?

1200px Afghanistan 16 अफ़ग़ानिस्तान: अफीम की खेती से तालिबान की अर्थव्यवस्था पर पड़ता है फर्क ?

अफीम का व्यापार एक ऐसा व्यापार जिसमें कई गुना फायदा होता है। लेकिन अब कई देशों में सरकार द्वारा अफीम पर रोक लगाई जा रही है।

मंत्री जी की नई खोज: APP के जरिये कर सकेंगे बारिश को कंट्रोल, सोशल मीडिया पर खूब हो रही चर्चा

तालिबान ने किया दावा

तालिबान का दावा किया है कि उसने अफ़ग़ानिस्तान में अपने पिछले शासन के दौरान अफ़ीम की खेती पर पूरी तरह पाबंदी लगा दी थी । जिसके चलते ग़ैर-क़ानूनी ड्रग्स का कारोबार थम गया था। हालांकि 2001 में अफ़ग़ानिस्तान में अफ़ीम के उत्पादन में कमी ज़रूर देखी गई थी। जिससे उनके दावे में कहीं ना कहीं सच्चाई जरूर नज़र आ रही है।

 

afeem 1538393132 749x421 अफ़ग़ानिस्तान: अफीम की खेती से तालिबान की अर्थव्यवस्था पर पड़ता है फर्क ?

फिर बढ़ा अफीम का व्यापार

अब सालों बाद एक रिपोर्ट के अनुसार यह देखने को मिल रहा है कि तालिबान नियंत्रित इलाकों में अफ़ीम की खेती बढ़ती गई है। अफ़ीम को इस तरह से परिष्कृत किया जाता है कि उससे काफ़ी अधिक नशा देने वाले हेरोइन जैसे ड्रग्स तैयार होते हैं। यूनाइटेड नेशंस ऑफ़िस ऑन ड्रग्स एंड क्राइम्स के मुताबिक़ अफ़ीम का सबसे बड़ा उत्पादक देश अफ़ग़ानिस्तान है।

 

Poppyfarm 696x390 1 अफ़ग़ानिस्तान: अफीम की खेती से तालिबान की अर्थव्यवस्था पर पड़ता है फर्क ?

अफ़ग़ानिस्तान में होता है अफ़ीम !

यूनाइटेड नेशंस ऑफ़िस ऑन ड्रग्स एंड क्राइम्स के मुताबिक़, अफ़ीम का सबसे बड़ा उत्पादक देश अफ़ग़ानिस्तान है। दुनिया भर में अफ़ीम के कुल उत्पादन का 80 प्रतिशत से ज्यादा हिस्सा अफ़ग़ानिस्तान में होता है।

 

अफ़ीम पर तालिबान ये कहा 
अफगानिस्तान पर नियंत्रण हासिल करने के बाद तालिबान के प्रवक्ता ज़बीहुल्लाह मुजाहिद ने कहा है, “जब हमलोगों की सरकार रही है तब ड्रग्स का उत्पादन नहीं हुआ है। हम लोग एक बार फिर अफ़ीम की खेती को शून्य तक पहुंचा देंगे। कोई तस्करी नहीं होगी।”
1200px Afghanistan 16 अफ़ग़ानिस्तान: अफीम की खेती से तालिबान की अर्थव्यवस्था पर पड़ता है फर्क ?

Related posts

लेफ्टिनेंट जनरल बिपिन रावत ने रक्षा मंत्री से की मुलाकात

Rahul srivastava

पाक वायुसेना का दावा निराधार, नहीं हुआ कोई हवाई अतिक्रमण- IAF

piyush shukla

भारत लाए गए 38 भारतीयों के शव, पंजाब सरकार देगी 5-5 लाख का मुआवजा

lucknow bureua