सीएम रावत से महानिदेशक एन.सी.सी ले.जनरल(वी0एस0एम) पी.पी.मल्होत्रा ने शिष्टाचार भेंट की

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत से बीते शनिवार को मुख्यमंत्री आवास पर महानिदेशक एन.सी.सी ले.जनरल(वी0एस0एम) पी.पी.मल्होत्रा ने शिष्टाचार भेंट की। उन्होंने मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र से उत्तराखण्ड में एन.सी.सी मुख्यालय एवं एकेडमी के लिए भूमि व भवन की सुविधा उपलब्ध कराने का अनुरोध किया। मुख्यमंत्री ने महानिदेशक एन.सी.सी को आश्वस्त किया कि एन.सी.सी के महत्व एवं प्रदेश के युवाओं के हित में राज्य के पर्वतीय क्षेत्र में एनसीसी मुख्यालय एवं एकेडमी के लिये उपयुक्त स्थल उपलब्ध कराया जायेगा।

 

 

बता दें कि मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने इस अवसर पर उपस्थित सचिव वित्त अमित नेगी को निर्देश दिये कि प्रदेश में लैण्ड बैंक की स्थापना के साथ ही सभी विभागों के भवनों व उसके आस पास की भूमि का विवरण तैयार किया जाय। उपयोग में नही लाये जा रहे स्कूल भवनों, पंचायत घरों व अन्य सरकारी भवनों का भी विवरण तैयार करने के निर्देश मुख्यमंत्री ने दिये हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे भवनां व भूमि का विवरण तैयार होने पर उसके बेहतर उपयोग की भी कार्ययोजना बनायी जाय।

वहीं मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड में प्रतिवर्ष बड़ी संख्या में युवा सेना व अर्द्ध सैनिक बलों में भर्ती होते हैं। एन.सी.सी युवाओं में देशभक्ति व अनुशासन की भावना मजबूत करने के साथ ही उन्हें सेना व अर्द्ध सैनिक बलों में भर्ती के लिये आधार भी तैयार करती है। उन्होंने महानिदेशक एन.सी.सी के अनुरोध पर एन.सी.सी अनुदेशकों का स्थानान्तरण एन.सी.सी वाले विद्यालयों में ही किये जाने का भी आश्वासन दिया।

एन.सी.सी के महानिदेशक ले0 जनरल0 पी0पी0मल्होत्रा ने कहा कि एन.सी.सी द्वारा प्रदेश में प्रतिवर्ष 37 कैम्प आयोजित किये जाते हैं, जिसमें उत्तराखण्ड सहित अन्य राज्यों के 18 हजार एनसीसी कैडेट प्रतिभाग करते हैं। इन केम्पों के माध्यम से इन कैडेटों में राष्ट्रीय एकता की भावना के साथ ही अन्य विभिन्न गतिविधियों से परिचित कराया जाता है। उन्होंने इन कैम्पों के आयोजन के लिये आवश्यक सुविधाओं हेतु सहयोग का भी अनुरोध मुख्यमंत्री से किया। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही एनसीसी की स्टेट एडवाइजरी कमीटी का भी गठन किया जायेगा। इस अवसर पर एन.सी.सी के एडीजी उत्तराखण्ड मेजर जनरल सी0मणि भी उपस्थित थे।