mukesh ambani लॉकडाउन के बाद से हर घंटे 90 लाख की कमाई कर मुकेश बने 'ग्लोबल अमीर'

नई दिल्ली। एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति मुकेश अंबानी ने मार्च में हुये लाकडाउन के बाद से हर घंटे 90 लाख रूपये की इनकम की है।इसका खुलासा आईआईएफएल वेल्थ हुरुन इंडिया रिच लिस्ट 2020 में किया गया है। 

मुकेश अंबानी ने सिलिकॉन वैली के टेकन एलोन मस्क और अल्फाबेट के सह-संस्थापक सर्गेई ब्रिन और लैरी पेज को पीछे छोड़ते हुए इसके दिमाग को हासिल किया है। आपको जानकर ताज्जुब होगा कि मुकेश अंबानी की निजी संपत्ति संपत्ति 2,77,700 करोड़ रुपए बढ़कर, 6,58,400 करोड़ हो गई, जिसके साथ रिलायंस इंडस्ट्रीज के एमडी और चेयरमैन ने लगातार नौवें साल सबसे अमीर भारतीय खिताब बरकरार रखा।

हालांकि कोविड-19 महामारी की शुरुआत में मुकेश अंबानी की संपत्ति में 28% की गिरावट दर्ज की गई थी जिसके अनुसार उनकी संपत्ति घटकर 3,50,000 करोड़ हो गई थी लेकिन लॉकडाउन के बाद फेसबुक, गूगल समेत कई अन्य ग्लोबल कंपनियों के जियो और रिटेल में रणनीतिक निवेश से सिर्फ चार महीने में उनके वैल्यूशन में 85 प्रतिशत तक सुधार आया। अगर इसी तरह से रफ्तार बढ़ती रही तो मुकेश अंबानी जल्द ही विश्व के टॉप मोस्ट रिचेस्ट पीपल में शामिल हो जाएंगे।

IIFL Wealth Hurun India Rich List 2020

कोविड-19 लाॉकडाउन के बावजूद मुकेश अंबानी की संपत्ति में 73% की बढ़ोतरी दर्ज की गई है, इसी के साथ रिलायंस का मार्केट कैप 10 लाख करोड़ रुपए को पार कर गया। 

मुकेश अंबानी की कुल संपत्ति, जो अब लिस्ट में अगले पांच की संयुक्त संपत्ति से बड़ी है, रिपोर्ट के अनुसार वह एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति और दुनिया का चौथा सबसे अमीर आदमी बना गए हैं। हुरुन ने कहा कि मुकेश अंबानी ग्लोबल अमीरों की लिस्ट में टॉप 5 में शामिल होने वाले एकमात्र भारतीय हैं। 

भारत के टॉप 5 अरबपति

मुकेश अंबानी

संपत्ति: 6,58,400 करोड़ रुपए

2019 के बाद से धन परिवर्तन: 73%

कंपनी: रिलायंस इंडस्ट्रीज

हिंदुजा ब्रदर्स

संपत्ति:  1,43,700 करोड़ रुपए

2019 से संपत्ति में परिवर्तन: -23%

कंपनी: हिंदुजा

शिव नादर और परिवार

संपत्ति:  1,41,700 करोड़ रुपए

2019 से संपत्ति में परिवर्तन: : 34%

कंपनी : एचसीएल

गौतम अडानी और परिवार

संपत्ति:  1,40,200 करोड़ रुपए

2019 के बाद से संपत्ति परिवर्तन: 48%

कंपनी: अडानी

अजीम प्रेमजी और परिवार

संपत्ति:  1,14,400 करोड़ रुपए

2019 के बाद से संपत्ति परिवर्तन: -2%

कंपनी: विप्रो

हुरुन इंडिया के 2020 एडिशन की लिस्ट में 828 भारतीय हैं। हुरुन इंडिया के एमडी और मुख्य शोधकर्ता अनस रहमान जुनैद ने कहा कि आईआईएफएल वेल्थ हुरन इंडिया रिच लिस्ट भारतीय अर्थव्यवस्था का एक बैरोमीटर है, जो हमें यह समझने में मदद करता है कि कौन से उद्योग ऊपर गए हैं, नए हैं या नीचे गए हैं। 

भारत में इस वर्ष 31 अगस्त तक 1000 करोड़ से अधिक की संपत्ति वाले सबसे अमीर व्यक्तियों के संकलन कर बनाई गई हो रूम इंडिया के लिस्ट से यह पता चलता है कि भारतीय उद्योग किस स्तर पर हैं और उनकी वर्तमान स्थिति क्या है।

Trinath Mishra
Trinath Mishra is Sub-Editor of www.bharatkhabar.com and have working experience of more than 5 Years in Media. He is a Journalist that covers National news stories and big events also.

यूपी में 7 नवम्बर को 7 विधानसभा सीटों पर होगा उपचुनाव

Previous article

वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया बोले, किसी भी हालात सेे हम निबटने को तैयार

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.