featured भारत खबर विशेष यूपी

MSME Day 2021: बड़े काम के हैं उद्यमियों के ये Suggestions

MSME Day 2021: बड़े काम के हैं उद्यमियों के ये Suggestions

लखनऊ: पूरा विश्व आज एमएसएमई डे मना रहा है। विश्व समेत देश में सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग को बढ़ावा दिया जा रहा। सरकार द्वारा कई योजनाओं को धरातल पर उतारा गया है जिससे एमएसएमई की रफ़्तार बढ़े और अर्थव्यस्था को मजबूती मिले। एमएसएमई डे के उपलक्ष्य में भारतखबर.कॉम लगातार अपने पाठकों को उद्यमियों के सुझावों से रूबरू करवा रहा है। इन्हीं सुझावों का एक और अंक पेश है…

अच्छा माहौल बनना जरूरी

रामजी सेठ (Vice President, IIA) (Raghav Udyog, F-10, Panki Industrial Area, Site-2, Kanpur) का कहना है कि वर्तमान समय में स्थिति ठीक नहीं है लेकिन सरकार द्वारा पॉजिटिव थॉट के तहत माहौल अच्छा बनाया जा रहा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लगातार इसके लिए प्रयासरत हैं। उनकी पॉजिटिव सोच का नतीजा रहा है कि बार-बार गिरने के बावजूद उद्यमी उठ खड़ा हुआ। मुख्यमंत्री का सपोर्ट लगातार उद्यमियों को मिलता रहा है।

उद्यमियों से भारतखबर.कॉम की विशेष बातचीत
Ramji Seth
Vice President,
IIA

रामजी सेठ का कहना है कि मुख्यमंत्री से जुड़े अधिकारियों को उनसे कुछ सीखना चाहिए। अधिकारियों को भी मोटिवेट करना चाहिए साथ ही उद्यमियों के प्रति पॉजिटिव सोच रखनी चाहिए। उन्होंने कहा कि मौजूद सरकार उद्यमियों की परेशानियों की समझती है और उनकी समस्याओं का निस्तारण करने की पुरजोर कोशिश करती है।

उन्होंने कहा है कि इसी सोच के साथ अधिकारियों को भी काम करना चाहिए। भारत के उद्यमियों के पास कंस्यूमर की डीमांड बहुत रहती है। कोरोना काल की वजह से ये कम जरूर हुई है लेकिन जल्दी ही ये वापस उसी ट्रैक पर आ जाएगी। उन्होंने कहा है कि सबसे अच्छी बात ये है कि सरकार लगातार हमें प्रोत्साहित कर रही है, इससे हमारे अंदर का कॉन्फिडेंस लगातार बढ़ता जा रहा है।

इन्फ्रास्ट्रक्चर की कमी को दूर करे सरकार

अतुल भूषण गुप्ता (Vice President, IIA) (A Power tech, 6A, Mohkampur, Industrial Complex, Phase-I, Delhi Road, Meerut) का कहना है कि देश में सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग की स्थिति बहुत अच्छी नहीं है लेकिन सरकार द्वारा जिस तरह से इसे बढ़ावा दिया जा रहा है, ये जरूर अच्छी बात है। उन्होंने कहा है कि सरकार की नीतियां तो बेहतरीन हैं लेकिन उसका एक्चुअल लाभ मिलना मुश्किल हो रहा है। कोरोना काल और लॉकडाउन के मद्देनज़र, सरकार की नीतियों का एक्चुअल फायदा भी नहीं उठाया जा पा रहा है।

उद्यमियों से भारतखबर.कॉम की विशेष बातचीत
Atul Bhushan Gupta,
Vice President
IIA

उन्होंने कहा है कि एमएसएमई को चलाने के लिए मैनपॉवर ज्यादा नहीं लगता है लेकिन परिस्थितियां लगातार बदल रही हैं, ऐसे में उद्यमियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। सरकार की योजनाएं और स्कीमें एमएसएमई के लिए काफी कारगर हैं लेकिन कोरोना की वजह से उद्यमी को इसका फायदा लेने में दिक्कत हो रही है।

उन्होंने एडवाइस दी है कि, सरकार को अच्छा इन्फ्रास्ट्रक्चर देने के लिए काम करने की जरूरत है, इससे मूवमेंट भी तेज़ होगा। साथ ही एमएसएमई से जुड़े लोगों के फ्यूचर को सेक्युर करने के लिए भी काम करना पड़ेगा। सरकार को ऐसी पालिसी लानी पड़ेगी जिससे उद्यमियों का भविष्य सुरक्षित रहे। साथ ही सरकार को इंडस्ट्रियल एरिया को भी डेवेलप करने की जरूरत है। यूपी में इंडस्ट्रियल एरियाज की कमी है, इस कमी को पूरा करने के लिए सरकार को सोचने की जरूरत है।

Related posts

पुलिस मुख्यालय तक पहुंचा रामजस कॉलेज का हंगामा, छात्रों का प्रदर्शन

Rahul srivastava

अल्ट्रासाउंड रिपोर्ट को सही साबित करने के लिए डॉक्टरों ने काटा नवजात का प्राइवेट पार्ट

Rani Naqvi

बिहार में बुधवार को फिर चार नए मामले सामने आए, कुल मिलाकर 72 पॉजिटिव मामले

Rahul srivastava