cee4f84a 27b8 4751 8a7d 24898b3d74cd नक्की झील की सुंदरता में काई जमने से लग रहा है दाग, जानें सफाई के लिए अपनाई जाएंगी कई योजनाएं

माउंट आबू से मगन प्रजापति की रिपोर्ट

माउंट आबू। सिरोही जिले में पर्वतीय पर्यटन नगरी माउंट आबू की सबसे महत्वपूर्ण और पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र नक्की झील सर्दियों के मौसम में बेहद खराब हालत में नजर आती है क्योंकि जैसे ही सर्दी का सीजन शुरू होता है तो झील में काई जमने का सिलसिला शुरू हो जाता है और यह काई धीरे-धीरे जम जाती है जिससे नक्की झील के किनारों पर गंदगी का नजारा नजर आता है। इसकी वजह से नक्की झील के किनारों पर घूमने वाले लोगों को बदबू से परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इसके साथ ही ऐसे में यह समस्या हमेशा की हो जाती है, लेकिन प्रशासन द्वारा इसकी समय से सफाई न होने के चलते धीरे-धीरे विकराल रूप ले लेती है। वहीं नगरपालिका आयुक्त आशुतोष आचार्य ने बताया कि झील को साफ कराने का कार्य कर्मचारियों द्वारा किया जा रहा है। इसके साथ ही झील की सफाई के लिए हम एक मशीन खरीदने की प्लानिंग कर रहे हैं। जिसके द्वारा झील को साफ किया जा सकता है।

झील की सफाई के लिए अपनाई जा रही ये प्रक्रियाएं-

बता दें कि सर्दी का सीजन शुरू होता है तो झील में काई जमने का सिलसिला शुरू हो जाता है और यह काई धीरे-धीरे जम जाती है जिससे नक्की झील के किनारों पर गंदगी का नजारा नजर आता है। जिसके चलते जब इसके बारे में जब कमिश्नर आशुतोष आचार्य से बात की गई तो उन्होंने बताया कि नक्की में जो काई जमने की समस्या है वो सर्दी में रहती है। जिसके चलते हमारे कर्मचारी बोट ले जाकर उसे साफ करने को प्रयास कर रहे हैं। इसके आगे उन्होंने क​हा कि हम गंदगी और काई को साफ करने वाली एक मशीन उदयपुर में एक मशीन देखी थी जिसे हम खरीदने की प्लानिंग कर रहे हैं। इसके अलावा एक कैमिकल आता है जो कश्मीर में डस्ट झील में प्रयोग होता है। जिसे पानी में डालने के बाद कुछ समय तक काई नहीं बनती है। जिसके चलते हमने कुछ सैंनल मंगवाए हैं। पहले सैंपल के तौर पर उसका इस्तेमाल किया जाएगा। इस कैमिकल का कोई साइडिफैक्ट तो नहीं है। इसके साथ ही पीने के पानी का पीएच और टीडीएस में कोई बदलाव न हो। उसके बाद कोई साइडिफैक्ट नहीं दिखाई देता है तो हम उसका प्रयोग करेंगे। इसके साथ ही आशुतोष आचार्य ने फाउंटेन को चालू कराने की बात भी कही।

जल्द ठीक होंगे फाउंटेन-

आशुतोष आचार्य ने बताया कि फाउंटेन चालूू कराने से पानी फ्लोटिंग होगा और काई जमने की समस्या कम होगी। उन्होंने आगे कहा कि नगरपालिका अपने स्तर से काई न जमे इसके लिए पूरे प्रयास कर रही है। इसके आगे उन्होंने बताया कि फाउंटेन को ठीक कराने को टेंडर जारी किया गया था। जिसे आज रिसीव कर लिया गया है। जल्द ही फाउंटेन को ठीक करा दिया जाएगा।

Trinath Mishra
Trinath Mishra is Sub-Editor of www.bharatkhabar.com and have working experience of more than 5 Years in Media. He is a Journalist that covers National news stories and big events also.

केंद्र से कांग्रेस की मांग, कहा- जल्द बुलाए संसद का शीतकालीन सत्र, देश के हालात ठीक नहीं!

Previous article

कोरोना ने ले ली एक और नेता की जान, बीजेपी विधायक किरण माहेश्वरी का निधन

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.