featured यूपी

लखनऊ: इतने हजार कर्मचारी कल घेरेंगे स्वास्थ्य भवन, यह है वजह

लखनऊ: इतने हजार कर्मचारी कल घेरेंगे स्वास्थ्य भवन, यह है वजह

लखनऊ: संगठन द्वारा महिला सदस्यों को 1000 किलोमीटर से अधिक दूर किए गए स्थानांतरण के मुद्दे को उठाने के उपरांत कल रात में निदेशक प्रशासन महोदय द्वारा लगभग ढाई सौ स्थानांतरण संशोधित करते हुए आसपास के जिलों में महिला कर्मियों को तैनाती दी गई। लेकिन दिव्यांगों, युगल दंपत्ति, दो वर्ष से कम सेवानिवृत्त, गंभीर बीमारी पदाधिकारियों आदि पर कोई विचार निदेशक प्रशासन द्वारा नहीं किया गया।

पुरुषों को तीन विकल्प के आधार पर तैनाती

पुरुषों को तीन विकल्प के आधार पर निकट जनपदों में तैनाती देने का प्रस्ताव भी निदेशक प्रशासन द्वारा नहीं माना गया। संशोधित सूची जारी होने से यह साबित हो चुका है कि निदेशक प्रशासन महोदय द्वारा अनियमित रूप से स्थानांतरण किए गए । संगठन की बात सच साबित हुई, संगठन पुनः तीनों स्थानांतरण सूची निरस्त किए जाने एवं निदेशक प्रशाशन को निलंबित कर जांच की मांग करता है।

स्वास्थ्य भवन घेरेंगे कर्मचारी
  • ढाई सौ महिला कर्मचारियों के संशोधित आदेश जारी
  • महिलाओं कर्मियों को निकट जनपदों में तैनात किया गया
  • दिव्यांग युगल दंपत्ति,बीमार कर्मियों पर विचार नहीं
  • दो वर्ष से कम, गंभीर बीमारी, पदाधिकारियों पर विचार नहीं
  • सोमवार को तीन हजार से अधिक कर्मचारी स्वास्थ्य भवन का करेंगे घेराव
  • मिनिस्ट्रियल के इस आंदोलन को विभागीय गैर विभागीय सभी संगठनों का समर्थन प्राप्त
3 हजार से अधिक कर्मचारी करेंगे कर्मचारी

कल मिनिस्ट्रियल संवर्ग एवं अन्य सहयोगी संगठन साथियों के साथ लगभग 3000 से अधिक कर्मचारी स्वास्थ भवन का घेराव करेंगे।

उत्पीड़न के खिलाफ संगठन

मिनिस्ट्रियल एसोसिएशन द्वारा जारी इस आंदोलन को प्रदेश के विभिन्न विभागीय गैर विभागीय संगठनों का समर्थन प्राप्त है । सभी संगठनों ने यह कहा है कि अगर मिनिस्ट्रियल के साथ इस आंदोलन में कोई कार्यवाही की गई तो उत्पीड़न के विरुद्ध सभी संगठन इसमें शामिल हो जाएंगे।

Related posts

ENG vs IND 5th TEST: मेजबान टीम के आगे पस्त दिखी टीम इंडिया, 58 रन पर गवांए तीन विकेट

mahesh yadav

क्या रिया चक्रवर्ती की इन हरकतों ने ले ली सुशांत की जान, जाने क्या है पूरी सच्चाई

Rani Naqvi

नाराज भीड़ ने 10 साल की बच्ची के साथ रेप करने वाले आरोपियों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा

Rani Naqvi