वैक्‍सीन की दोनों डोज लेने वाले मुरादाबाद डीएम भी पॉजिटिव, हुए होम आइसोलेट  

मुरादाबाद: वैश्विक महामारी कोरोना वायरस का संक्रमण उत्‍तर प्रदेश के हर जिले में फिर तेजी से अपने पैर पसार रहा है। अब इसकी चपेट में कोरोना वैक्‍सीन की दोनों डोज लेने वाले मुरादाबाद डीएम भी आ गए हैं।

मुरादाबाद जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह एंटीजन टेस्‍ट के बाद आरटी-पीसीआर रिपोर्ट में पॉजिटिव पाए गए हैं। डीएम ने कोरोना वैक्‍सीन का पहला टीका 11 फरवरी और दूसरा टीका 16 मार्च को लगवाया था। कोरोना संक्रमित होने के बाद जिलाधिकारी ने खुद को होम आइसोलेट कर लिया है।

जिले में नाइट कर्फ्यू लागू

जिले में डीएम के साथ ही 113 अन्‍य लोगों में भी कोरोना संक्रमण पाया गया है, जबकि इस खतरनाक वायरस से ग्रसित एक महिला की मौत भी हुई है। शुक्रवार को RT-PCR रिपोर्ट में 113 नए कोरोना संक्रमितों की पुष्टि हुई है। कोविड संक्रमण पर लगाम लगाने के लिए शहर में नाइट कर्फ्यू लगाया गया है।

वहीं, सीएमओ डॉ. एमसी गर्ग ने बताया कि, कोविड संक्रमण से बचाव के लिए वैक्‍सीनेशन किया जा रहा है। आपको वैक्‍सीन लगने के बाद भी पहले की तरह ही सावधानी बरतनी है। अगर आप टीका लगने के बाद भी संक्रमण की चपेट में आते हैं तो आपको मामूली रूप से खांसी, जुकाम व बुखार हो सकता है। मगर, गले से नीचे खतरा नहीं होगा।

वैक्‍सीनेशन के बाद भी नियमों का पालन जरूरी

उन्‍होंने बताया कि, वैक्‍सीनेशन करने वाले डॉक्‍टर और स्वास्थ्य कर्मियों ने सबसे पहले टीका लगवाया है, जो पूरी तरह स्वस्थ हैं। इसलिए ऐसा सोचें कि वैक्‍सीन लगने के बाद कोरोना नहीं हो सकता है। वैक्‍सीन लगवाने के बाद भी सोशल डिस्‍टेंसिंग के नियम का पालन करने के साथ ही मास्क लगाना भी बेहद जरूरी है।

उत्तराखंड: देहरादून में 30 अप्रैल तक लगा नाइट कर्फ्यू, सभी स्कूल रहेंगे बंद

Previous article

आने वाली है नवरात्रि, जानें तिथि ? शुभ मुहुर्त और किसको नहीं रखना चाहिए व्रत…

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured