टेस्ट क्रिकेट से दूरी बनाने की सोच रहे हैं मोहम्मद आमिर

कराची। पाकिस्तान के तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर अपने अंतरराष्ट्रीय करियर को बढ़ाने के लिए टेस्ट क्रिकेट से दूरी बनाने के बारे में सोच रहे हैं। आमिर ने कहा कि टीम के कोच मिकी आर्थर से वह टेस्ट क्रिकेट में कम से कम खेलने पर विचार कर रहे हैं। वह विश्व कप 2019 में टीम के लिए सभी मैच खेलना चाहते हैं और ऐसे में वो टेस्ट क्रिकेट का बोझ ज्यादा समय तक नहीं झेल पाएंगे।

आमिर ने कहा कि वो टेस्ट क्रिकेट खेलने के लिए मना नहीं कर रहे हैं, लेकिन टीम में एक रोटेशन पॉलिसी होनी चाहिए, इसके तहत ज्यादा से ज्यादा खिलाड़ियों को खेलने का मौका दिया जाए। पहले के मुकाबले इन दिनों क्रिकेट बहुत ज्यादा हो गया है, ऐसे में एक गेंदबाज को लंबे समय तक खुद को फिट रखना बेहद चुनौती भरा काम हो गया है।”

वहीं मैच फिक्सिंग के आरोप के बाद पांच साल के निलंबन के बाद आमिर ने देश के लिए 16 टेस्ट मैच खेले हैं और 44 विकेट लिये हैं। उल्लेखनीय है कि आमिर ने 5 साल निलंबन झेलने के बाद क्रिकेट में साल 2016 में वापसी की थी। आमिर पर साल 2010 में इंग्लैंड के खिलाफ लार्ड्स टेस्ट में मैच फिक्सिंग का आरोप लगा था, जिसके बाद उन्हें पांच साल के लिए बैन कर दिया गया था।