featured देश

18 मई से लगने वाले चौथा लॉकडाउन पिछले लॉकडाउन से कितना होगा अलग, जानिए 20 लाख करोड़ की मदद का किसे होगा फायदा..

pm modi 18 मई से लगने वाले चौथा लॉकडाउन पिछले लॉकडाउन से कितना होगा अलग, जानिए 20 लाख करोड़ की मदद का किसे होगा फायदा..

दुनियाभर में बढ़ते कोरोनो संकट को देखते हुए आज पीएम मोदी ने देश के नाम संबोधन करके 18 मई से लगने वाले चौथे लॉकडाउन की जानकारी दी।

modi 18 मई से लगने वाले चौथा लॉकडाउन पिछले लॉकडाउन से कितना होगा अलग, जानिए 20 लाख करोड़ की मदद का किसे होगा फायदा..

आपको बता दें, 3 मई को तीसरा लॉकडाउन 17 मई तक लगाया गया था। लेकिन लगातार कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते देश में चौथा लॉकडाउन लगाने की घोषण कर दी गई है।

लेकिन ये लॉकडाउन अन्य लॉकडाउन से अलग होगा। चलिए आपको बताते हैं। नये लॉकडाउन के नये नियमों के बारे में..

पीएम मोदी ने कहा, कि कोरोना लंबे समय तक हमारे जीवन का हिस्सा बना रहेगा, लेकिन ये भी नहीं हो सकता कि ये हमारे ईर्द-गिर्द ही रहेगा।

हम मास्क लगाएंगे, दो गज दूरी के नियम का पालन करेंगे। हम नियमों का पालन करेंगे, इसलिए लॉकडाउन का चौथा चरण नए नियमों वाला होगा।राज्यों से मिल रहे सुझावों से जुड़ी जानकारी 18 मई से पहले दी जाएगी।

आपको बता दें,यह पिछले दो महीनों में प्रधानमंत्री का देश को चौथा विशेष संबोधन रहा।उनका यह संबोधन ऐसे वक्त में हुआ, जब एक दिन पहले ही उन्होंने सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ एक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक की है। उसके बाद उन्होंने चौथे लॉकडाउन की घोषणा की।

इसके साथ ही पीएम मोदी ने देश की गिरती अर्थव्यवस्था को संभालने के लिए 20 लाख करोड़ की घोषणा भी की।
20 लाख करोड़ का ऐलान करते हुए पीएम मोदी ने कहा, ‘ये पैकेज भारत की GDP का करीब-करीब 10 प्रतिशत है।

यह पैकेज 2020 में देश की विकास यात्रा को एक नई गति देगा. आत्मनिर्भर भारत के संकल्प को सिद्ध करने के लिए इस पैकेज मैं लैंड, लिक्विडिटि, लेबर, कुटिर उद्योग, लघु उद्योग सभी के लिए बहुत कुछ है।

ये पैकेज देश के उस किसान के लिए है, जो दिन-रात परिश्रम कर रहा है। ये देश के मध्यम वर्ग के लिए है।
ये पैकेज भारत के उद्योग के लिए है। कल से आने वाले कुछ दिनों तक वित्त मंत्री द्वारा इस आर्थिक पैकेज की विस्तार से जानकारी दी जाएगी।

https://www.bharatkhabar.com/japan-aerospaces-big-claim-revealing-meteor-nearest-to-the-sun/
इस तरह उन्होंने आत्म निरेभर बनकर देश की अर्थव्यवस्था को संभालने की बात कही।
पीएम मोदी ने अपने पांचवे भाषण में देश की जनता को आर्थिक और मानसिक तौर से संभलने की बात कही।

Related posts

KKR VS DD: हार के दलदल से बाहर निकलना दिल्ली के लिए सबसे बड़ी चुनौती

lucknow bureua

जालौनः जिले की 6 नदियों में बढ़ा जलस्तर, 50 से ज्यादा गांवों से टूटा संपर्क

Shailendra Singh

हर की पैड़ी पर बह रही गंगा को मिल गया अपना नाम वापिस, जानें क्या है ये नामों का फेरबदल

Hemant Jaiman