featured यूपी

MLA अमन मणि त्रिपाठी भगोड़ा घोषित, गिरफ्तारी वारंट भी जारी

MLA अमन मणि त्रिपाठी भगोड़ा घोषित, गिरफ्तारी वारंट भी जारी

लखनऊ: लखनऊ स्थित सांसद और विधायकों की विशेष अदालत ने महाराजगंज जिले से नौतनवा के निर्दलीय विधायक अमन मणि त्रिपाठी को अपहरण मामले में भगोड़ा घोषित कर दिया है। साथ ही अदालत ने अमन मणि के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट भी जारी कर दिया है।

4 मार्च को होगी अगली सुनवाई
MP/MLA की स्‍पेशल कोर्ट के जज पी.के. राय ने गुरुवार को मामले की सुनवाई करते हुए अमन मणि त्रिपाठी की संपत्ति को कुर्क करने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी है। कोर्ट ने अगली सुनवाई की तारीख 4 मार्च तय की है। आपको बता दें कि विधायक अमन मणि वारंट होने के बावजूद पिछले कई तारीखों से मुकदमे की कार्यवाही के लिए अदालत में पेश नहीं हो रहे थे।

क्‍या है पूरा मामला?
दरअसल, नौतनवा के निर्दलीय विधायक अमन मणि त्रिपाठी के खिलाफ फिरौती के लिए एक व्यापारी का किडनैप करने का मामला दर्ज है। आरोप के अनुसार, अमन मणि ने अपने कुछ साथियों के साथ गोरखपुर के ऋषि पांडेय नाम के कारोबारी का किडनैप कर लिया था। उसके साथ रास्ते में मारपीट भी की थी। निर्दलीय विधायक पर आरोप है कि उन्होंने व्यापारी को रंगदारी नहीं देने पर जान से मारने की धमकी दी थी।

इस मामले में अमन मणि त्रिपाठी और उसके साथियों के खिलाफ लखनऊ के गौतमपल्ली थाने में 6 अगस्त, 2014 को केस दर्ज किया गया था। कारोबारी के अपहरण, मारपीट और जान से मारने की धमकी देने के मामले में पुलिस ने अमन मणि के खिलाफ 28 जुलाई, 2017 को चार्जशीट दाखिल की थी। यह मामला MP/MLA की विशेष अदालत में चल रहा है। हालांकि, सुनवाई के दौरान अमन मणि त्रिपाठी हाजिर नहीं हुए थे। अदालत की तारीखों पर उनकी ओर से हाजिरी माफी की अर्जी दी जा रही थी, जिसमें अमन मणि ने खुद को बीमार बताया था।

कल भी अदालत नहीं पहुंचे अमन मणि  
हालांकि, अर्जी में विधायक अमन मणि ने ये नहीं बताया था कि वे दिल्ली के किस अस्पताल में भर्ती हैं और उन्हें क्या बीमारी है। इसके बाद इस मामले की सुनवाई के लिए 11 फरवरी की तारीख तय कर दी गई थी। बावजूद इसके अमन मणि अदालत में हाजिर नहीं हुए। इसके बाद विशेष अदालत ने अमनमणि को भगोड़ा घोषित कर दिया है। अब मामले की सुनवाई 4 मार्च को होगी।

कौन हैं अमन मणि त्रिपाठी?
अमन मणि त्रिपाठी पूर्व बाहुबली मंत्री और विधायक रहे अमर मणि त्रिपाठी के बेटे हैं। अमर मणि इस समय कवयित्री मधुमिता शुक्ला की हत्या के आरोप में गोरखपुर जेल में उम्रकैद की सजा काट रहे हैं। नौतनवां की लक्ष्‍मीपुर विधानसभा सीट से अमर मणि त्रिपाठी चुनाव लड़ते रहे हैं। उसके बाद इस सीट को खत्‍म कर दिया गया। इसकी जगह नौतनवा को विधानसभा घोषित किया गया। साल 2017 के विधानसभ चुनाव में अमन मणि त्रिपाठी ने इस सीट पर 16000 वोटों से जीत दर्ज की थी।

Related posts

मोदी ने पुलिस अकादमी में शीर्ष पुलिस अधिकारियों के साथ किया योगा

Rahul srivastava

तेजस्वी ने नीतीश को बताया कुर्सी बाबू, तो सुशील का नया नाम रखा खुलासा बाबू

Breaking News

नोरा फतेही ने सिर और कमर पर तलवार रखकर किया डांस, विडियो हुई वायरल

Samar Khan