featured यूपी

लखनऊ: मिनीस्ट्रियल संवर्ग के कर्मचारियों ने किया कार्य बहिष्कार, जाने वजह

लखनऊ: मिनीस्ट्रियल संवर्ग के कर्मचारियों ने किया कार्य बहिष्कार, जाने वजह

लखनऊ: यूपी  मेडिकल एण्ड पबिलक हेल्थ मिनिस्ट्रीयल एसोसिएशन की जनपद शाखा द्वारा निदेशक, स्वास्थ्य सेवा माहनिदेशालय द्वारा द्वेषपूर्ण ढ़ंग से मिनीस्ट्रियल संवर्ग के कर्मचारियों के आर्थिक, मानसिक एवं शारीरिक शोषण के उद्देश्य से अनियमित-अमानवीय स्थानांतरण किये जाने के विरोध में 5वें दिन भी कार्य का बहिष्कार किया।

संघ की प्रान्तीय कार्यकारणी के आहवाहन पर जनपद अध्यक्ष अखिलेश श्रीवास्तव एवं जनपद मंत्री रजनी शुक्ला के नेतृत्व मे जनपद लखनऊ के स्वास्थ्य सेवा संवर्ग मे कार्यरत लखनऊ के सभी यूनिटों पर कार्यरत लिपिक संवर्गीय कर्मचारी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी, लखनऊ के कार्यालय पर उपस्थित रहकर अपने शासकीय कार्यो का बहिष्कार किया गया।

जपनद शाखा के सभी सदस्यों द्वारा अनियमित ढ़ंग से शासन के कार्मिक विभाग द्वारा मा0 मुख्यमंत्री जी मंशा के विपरीत लिपिक संवर्गीय निम्न आय वर्ग के कर्मियों को 700 से 1000 किलोमीटर की दूरी तक स्थानांतरित कर उनके शोषण की कार्यवाही की जा रही है, और रोष व्यक्त किया गया। संबंधित कर्मचारियो द्वारा अनियमित ढंग से मुख्यमंत्री द्वारा अनुमोदित स्थानांतरण नीति का उल्लंघन करते हुए किये गये स्थानांतरणों को निरस्त करने की मांग की गई।

संघ के सदस्यो द्वारा दिव्यांगों, असाध्य रोग से ग्रसित है, उनके स्थानांतरण तत्काल निरस्त करने की मांग की गयी। संघ द्वारा यह भी मांग की गयी कि ऐसे सदस्य जिनके चतुर्थ श्रेणी संवर्ग से प्रान्नति के उपरान्त जनपद में तैनाती को दो से तीन वर्ष भी पूर्ण नही किये गये है, के स्थानांतरण अनियमित रूप से किये गये है को तत्काल निरस्त किये जाए।

निदेशक (प्रशासन) द्वारा जो तीन स्थानांतरण सूची जारी की गयी है उनमे इतकी कर्मियों व्याप्त है कि निदेशक (प्रशासन) महोदय संबंधित सूचियों को संशोधित करने हेतु स्वयं बाध्य हैं को तत्काल निरस्त कर दिये जाये तथा नये सिरे से संवर्ग के कर्मियों से उनके एैच्छिक जनपदो का विकल्प प्राप्त कर संशोधित रूप से स्थानांतरण सूची जारी की जाये।

कोविड-19 की महामारी को दृष्टिगत रखते जब प्रधानमंत्री हम सभी को बार-बार निर्देशित कर रहे है कि अनावश्यक रूप से घरो से बाहर न निकले एसी दशा मे निदेशक (प्रशासन), चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाओे द्वारा आमानवीय रूप से मिनिस्ट्रयल संवर्ग के कर्मचारियों को अपने धर परिवार को छोड़कर दूरस्थ जनपदो मे जाने हेतु बाध्य किया जा है, किसी भी दशा मे स्वीकार करने योग्य नहीं है।

संघ के प्रान्तीय महामंत्री कुवंर हीरेश शरण सक्सेना द्वारा कर्मचारियों के उत्तपीड़न के विरोध में संघ की कार्यवाही को यथावत् जारी रखने के निर्देश दिये गये है। कुवंर हीरेश शरण सक्सेना द्वारा कहा गया कि शासन प्रशासन की दमनकारी नितियों को किसी भी दशा मे स्वीकार नहीं किया जायेगा तथा उसका विरोध हर स्तर पर किया जाएगा।

जनपदीय अध्यक्ष अखिलेश श्रीवास्तव द्वारा अवगत कराया गया कि प्रान्तीय नेतृत्व के आहवाहन पर सम्पूर्ण प्रदेश के मिनीस्ट्रियल संवर्ग के कर्मचारियों द्वारा दिनांक 26 जुलाई को स्वास्थ्य सेवा महानिदेशालय का धेराव किया जायेगा तथा उपरांत माननीय मुख्यमंत्री जी के कार्यालय, लोक भवन तक पैदल मार्च कर उन्हे ज्ञापन प्रस्तुत किया जायेगा।

सरकार द्वारा यदि संबंधित स्थानांतरण सूचियों को निरस्त नहीं किया जाता है तो संघ द्वारा अपना आन्दोलन प्रान्तीय कार्यकारणी के निर्देशानुसार जारी रखा जायेगा।

Related posts

खुद को गणित टीचर बताता था आतंकी, अहमदाबाद ब्लास्ट से जुड़े तार

Pradeep sharma

CM त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने ‘राष्ट्रीय प्रेस दिवस’ पर प्रेस प्रतिनिधियों को हार्दिक शुभकामनाएं दी

mahesh yadav

राम मंदिर व योगी पर विवादित टिप्पणी करने वाले को रालोद ने दी बड़ी जिम्मेदारी

sushil kumar