lungs फेफड़ें होंगे मजबूत तो बढ़ेगी कोरोना की लड़ने की क्षमता, करें ये उपाय

दुनियाभर में कोरोना वायरस से संक्रमण के मामले बहुत तेजी से बढ़ रहे हैं. लोग कोरोना को लेकर डरे हुए हैं. इसी बीच कोरोना को लेकर कई सारी रिसर्च भी की जा रही है और रोजाना नए-नए खुलासे होते रहते हैं. ताजा रिपोर्ट में एक नया खुलासा हुआ है. जानकारी के मुताबिक, अगर एक बार कोरोना वायरस संक्रमित व्यक्ति के फेफड़ों तक पहुंच जाता है तो वो उसे काफी नुकसान पहुंचाता है. वैसे तो ये पहले से सिद्ध हो चुका है कि सिगरेट पीने से फेफड़ों को क्षति पहुंचती है, लेकिन अब ताजा शोध में ये खुलासा हुआ है कि किसी व्यक्ति के फेफड़ों को लगातार 25 साल तक धूम्रपान करने से जितना नुकसान नहीं होता, उतना कोरोना वायरस महज एक महीने में नुकसान पहुंचा सकता है.

इसलिये आपको जरूरत है अपने फेफड़ों को एक दम तंदरुस्त रखने की. चलिये आपको बताते हैं कि आप आपने फेफड़ों को कैसे हैल्थी रख सकते हैं.

सिगरेट से बनाएं दूरी
सबसे पहला और महत्वपूर्ण उपाय ये है कि आज ही नहीं बल्कि अभी से सिगरेट पीना छोड़ दें. इससे अपने फेफडे़ तंदरुस्त हो जाएंगे.

प्राणायाम
सांस लेने की ये योगिक तकनीक फेफड़ों के लिए बेहद फायदेमंद है, फेफड़ों की क्षमता को बढ़ाती है. मन का शांत होना बहुत जरूरी है क्योंकि जब आप तनावग्रस्त या चिंतित होते हैं, तो श्वास प्रभावित होता है और श्वसन दर बढ़ जाती है. इससे फेफड़ों पर दबाव पड़ता है तो प्राणायाम निश्चित रूप से आराम और शांत रहने में मदद कर सकता है.

इंफ्लेमेटरी फूड खाने से बचें
आयुर्वेद में कुछ चीजों के बहुत कम सेवन की सलाह दी गई है. शरीर में बलगम बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थों से बचा जाना चाहिए और ऐसे खाद्य पदार्थ जो तनाव को कम करने में मदद करते हैं का ज्यादा सेवन किया जाना चाहिए. भारत में आंवला जैसे विभिन्न प्रकार के प्राकृतिक और प्रचुर मात्रा में एंटीऑक्सिडेंट हैं, जो फेफड़ों को स्वस्थ रखने में मदद करेंगे.

लहसुन
लहसुन को अपनी डाइट में नियमित शामिल करें और प्रतिदिन सुबह खाली पेट लहसुन की एक कली पानी के साथ खाएं. इस में पाए जाने वाला एलीसिन तत्व इंफेक्शन से लड़ने रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने और फेफड़ों को स्वस्थ व मजबूत रखने में बहुत मददगार होता है.

सप्लीमेंट्स
सप्लीमेंट्स स्वस्थ जीवन के लिए जरूरी हैं और इनका सेवन खाने के साथ-साथ किया जाना चाहिए. सप्लीमेंट के साथ आप अपने फेफड़ों की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ा सकते हैं. इनमें एन-एसिटाइल सिस्टीन होता है, जो कोविड-19 से उबरने वाले लोगों को फेफड़ों की रिकवरी में मदद करने के लिए कारगर है.

तुलसी के पत्ते
आयुर्वेद के अनुसार, जो लोग प्रतिदिन तुलसी की पत्तियों का सेवन करते हैं वे हमेशा स्वस्थ रहते हैं. उनकी रोगों से लड़ने की शक्ति बाकी लोगों के मुकाबले ज्यादा होती है. तुलसी के सूखे पत्ते थोड़ा सा कथा, कपूर और इलायची को बराबर मात्रा में लेकर पीस लें. इसमें 7 गुना चीनी मिलाएं और चुटकी भर मात्रा का दिन में दो बार सेवन करें. इससे फेफड़ों में जमा कफ आसानी से निकल जाता है और फेफड़ों को मजबूती मिलती है.

अंगूर

अंगूर एक ऐसा फल है जो विटामिन सी सहित कई पोषक तत्वों का भंडार है. जिन लोगों को अस्थमा की समस्या है उनके लिए अंगूर का सेवन करना काफी फायदेमंद होता है. लेकिन यदि आपको डायबिटीज की समस्या है तो अंगूर का सेवन ना करें.

प्रदूषित स्थानों से बचें
लॉकडाउन खुलने के बाद भारत के कई शहरों और क्षेत्रों में प्रदूषण तेजी से बढ़ रहा है. देश में प्रदूषण से बचना लगभग असंभव है. प्रदूषित स्थानों से जितना दूर रहा जाए. फेफड़ों के लिए उतना अच्छा है.

चोरों ने एक रात में 10 दुकानों को बनाया अपना निशाना, बहीखाते सहित गल्ले से नकदी लेकर हुए फरार

Previous article

बिहार के लोक आस्था का महापर्व छठ पर्व की शुरुआत कल रात खरना के साथ ही शुरू हो हो गया

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured