मेघालय: मतदान से पहले एनसीपी उम्मीदवार की बम धमाके में मौत

शिलांग। मेघालय में विधानसभा चुनाव के लिए होने वाले मतदान से पहले विलियमनगर से नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवार जोनाथन संगमा और उनके दो सुरक्षाकर्मियों की एक बम धमाके में मौत हो गई है। रविवार शाम को जब संगमा चुनाव प्रचार के लिए निकले थे तब अचानक वहां धमाका हो गया और उसमें उनकी मौत हो गई। ये हादसा राजधानी शिलांग से 245 किलोमीटर की दूरी पर हुआ है। इस घटना को लेकर मेघालय के डीजीपी एसबी सिंह का कहना है कि हमारे पास इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस से धमाके की खबर है, जिसमें कुछ लोगों की जान चली गई।
संगमा ने साल 2013 के विधानसभा चुनावों में स्वतंत्र उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ा था और इस बार वो एनसीपी के उम्मीदवार थे। स्थानीय लोगों का कहना है कि अलग गारोलैंड की मांग करने वाले गारो नेशनल लिबरेशन आर्मी ने विलियमनगर में  धमकी भरे पोस्टर लगाए हैं, जिसमें कहा गया है कि अगर उन्होंने संगमा को वोट दिया तो गंभीर परिणाम भुगतने पड़ेंगे। स्थानीय लोगों का कहना है कि संगमा की हत्या गारो आर्मी ने ही की है। इस धमाके को लेकर मेघालय के मुख्य चुनाव अधिकारी एफआर खार्कोंगोर ने कहा कि हमारे पास रिपोर्ट है कि घटना के समय वाहन में सात लोग मौजूद थे। चूंकि उस स्थान पर मोबाइल नेटवर्क नहीं है इसलिए हमारे पास सटीक जानकारी उपलब्ध नहीं है।

गौरतलब है कि जोनाथन संगमा ने साल 2017 में विलियमनगर के विजयी उम्मीदवार देबोराह के खिलाफ केस दर्ज करवाया था, जिसमें उन्होंने कहा था कि देबोराह ने चुनाव के दौरान मतदाताओं को धमकाने के लिए एक आतंकी समूह की मदद ली थी। संगमा चुनाव प्रचार करने के बाद जब विलियमनगर जा रहे थे उसी दौरान उनके काफिले पर हमला किया गया था। उनके निधन पर राज्य के मुख्यमंत्री मुकुल संगमा ने खेद व्यक्त किया है। मेघालय में 27 फरवरी को चुनाव होने वाले हैं।