featured यूपी

पत्नी का नामांकन कराना पड़ा भारी, घर में घुसकर गोलियों से किया छलनी

पत्नी का नामांकन कराना पड़ा भारी, घर में घुसकर गोलियों से किया छलनी

मेरठः जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव अभी शुरू भी नहीं हुआ कि जिले में खूनी जंग पहले ही छिड़ चुकी है। रविवार दोहपर बीडीसी मेंबर के लिए पत्नी के नाम का नामांकर करवाकर वापस लौट रहे प्रत्याशी के पति को उसके ही घर में गोलियों से छलनी कर दिया गया।

बताया जा रहा है कि इस हमले में प्रत्याशी का पति का पिता, चाचा भी गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। मामले की जानकारी मिलते ही पुलिस ने दबिश देते हुए मुख्य आरोपी को दबोच लिया।

वहीं, हमले में मृतक राहुल के पिता जयपाल का आरोप है कि रविवार दोपहर पूर्व ब्लॉक प्रमुख योगेंद्र उनके घर पहुंचा और उसने अपने प्रत्यासी अरुण के समर्थन में उसकी बहू अंजलि को नामांकन वापस लेने के लिए कहने लगा। जब जयपाल ने इनकार कर दिया तो गुस्से से आग बबूला योगेंद्र अपने घर वापस लौट गया।

कुछ देर बाद ही योगेंद्र अपने बेटों और रिश्तेदारों के साथ जयपाल के घर पर फिर आ धमका और लाठी-डंडों से हमला कर दिया। इस बीच योगेंद्र के साथ आए तमंचो से लैश हमलावरों ने फायरिंग शुरू कर दी। बीच-बचाव कर रहे राहुल पर आरोपियों ने ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। गोलियां लगते ही राहुल जमीन पर गिर पड़ा। राहुल की हालत देख आरोपी फरार हो गए।

घटना देख गांव में हड़कंप मच गया। पड़ोसियों ने घायल जयपाल और बाबूराम की मदद से खून से लथपथ राहुल को अस्पताल लेकर भागे। गंगानगर स्थित एक नर्सिंग होम में उन्होंने राहुल को भर्ती किया। लेकिन वहां तक पहुंचते-पहुंचते देर हो गई थी। डॉक्टरों ने राहुल को मृत घोषित कर दिया।

वहीं, घटना की जानकारी लगते हुए सीओ सदर देहात पूनम सिरोही पूरी फोर्स लेकर मौके पर पहुंच गईं। पुलिस ने आरोपियों की तलाश में पूरे इलाके में दबिश दी और मुख्य आरोपी अंकित को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने बताया कि राहुल के पिता की शिकायत पर मामले को दर्ज कर लिया गया है। वहीं, अन्य आरोपियों की तलाश के लिए लगातार दबिश दी जा रही है।

Related posts

राहुल गांधी का गोयल पर तीखा हमला, शिर्डी के चमत्कारों की कोई सीमा नहीं

lucknow bureua

EXCLUSIVE: लखनऊ कैंट से ‘आप’ प्रत्याशी अजय कुमार का दावा, कहा- हमारी शर्तों पर बनेगी सरकार

Neetu Rajbhar

बीएचयू प्रशासन उपद्रवी छात्रों को लेकर सख्त, 50 छात्रों के दोबारा प्रवेश पर लगी रोक

Ankit Tripathi