अय्याशी के अड़ों पर पुलिस की छापेमारी, रंगरलिया मनाते पकड़े गए 40 युवक-युवतियां

मेरठ। उत्तर प्रदेश के मेरठ में पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए अय्याशी का अड्डा बन चुके होटलों पर छापेमारी की और 40 लोगों को अय्याशी करते हुए गिरफ्तार किया। थाना सदर बाजार क्षेत्र के करीब आधा दर्जन होटलों पर एसपी क्राइम ब्रांच सतपाल आंतिल के नेतृत्व में क्राइं ब्रांच ने ताबतोड़ एक के बाद एक होटल में छापेमारी की। पुलिस के छापे के बाद होटल में हड़कंप मच गया। पुलिस को आता देख आनन-फानन में रंगरलिया मना रहे लड़के-लड़कियां इधर-उधर भागने लगे,लेकिन पुलिस की टीम ने मुस्तैदी दिखाते हुए सबको धर दबोचा। पकड़ी गई लड़कियों को महिला पुलिस कर्मियों की मदद से बस में बिठाकर थाने भिजवा दिया गया है। 

मिली जानकारी के मुताबिक भैसाली बस अड्डे के सामने बने इन छोटे-छोटे होटलों में अय्याशी का साजो सामान हमेशा तैयार रहता है, जोकि स्थानीय पुलिस थाने के संरक्षण में चलता है। जानकारों की माने तो इन होटलों में घंटों के हिसाब से कमरा मिलता है और मोटी कीमत चुकाने पर लड़कियां भी जिस्मफरोशो के आगे परोसी जाती हैं, लेकिन कभी-कभी इन होटलों पर पुलिस छापा मारकर खानापूर्ति जरूर करती है। वहीं पुलिस अधिकारियों की माने तो अब इस मामले में लड़के लड़कियों का वेरिफिकेशन किया जाएगा और उनके घर वालों को बुलवाकर उन्हें सौंप दिया जाएगा और जो दोषी होंगे उन्हें कानूनी धाराओं में मुकदमा दर्ज करके जेल भेजा जाएगा।

कुल मिलाकर देखा जाए  तो ये हाईटेक कोठे जिस पर अधिकारियों की और थानों की हमेशा से ही निगाह रहती है इससे पहले भी कई बार इन होटलों पर छापेमारी हो चुकी है, लेकिन छापेमारी के बाद यहां फिर से जिस्मफिरोशी का धंधा शुरू हो जाता है। पुलिस की तफ्तीश में जो खुलासे हुए हैं उनके मुताबिक यहां सही काम से आने वाले लोगों को भी इस गोरखधंधे में धकेल दिया जाता है। यहां सबसे बड़ा सवाल ये उठता है कि यहां से मात्र  200 से 400 मीटर तक कि दूरी पर पुलिस थाना हैं लेकिन फिर भी पुलिस का कभी इस पर ध्यान नहीं गया, जिससे ये माना जा रहा है कि स्थानीय थाने की इसमे मिलीभगत है।

संवाददाता- सानु भारती