एमसीडी फंड पर जनता को गुमराह कर रहे है केजरीवाल : भाजपा

नई दिल्ली। दिल्ली भाजपा ने नगर निगमों पर सफाई में लापरवाही बरतने और भ्रष्टाचार के आरोप लगाये जाने के लिए मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल के बयान की कड़ी आपत्ति जताई है। पार्टी का आरोप है कि केजरीवाल निगम को फंड देने के मामले पर जनता को गुमराह कर रहे हैं।

दिल्ली भाजपा के महामंत्री कुलजीत चहल, रविन्द्र गुप्ता एवं राजेश भाटिया ने शुक्रवार को एक संयुक्त बयान जारी कर कहा कि केजरीवाल द्वारा एक वीडियो बयान में दिल्ली के नगर निगमों पर सफाई में लापरवाही बरतने और भ्रष्टाचार के आरोप लगाना निंदनीय है। उन्होंने कहा कि तीनों नगर निगम छोटी सड़कों एवं कालोनियों के अंदर की सड़कों और गलियों की सफाई व्यवस्था देखते हैं जबकि 60 फुट या उससे अधिक की चौड़ी सड़कों की सफाई एवं रख रखाव का काम दिल्ली सरकार के पी.डब्ल्यू.डी. विभाग के अंतर्गत आता है।

उन्होंने कहा कि दिल्ली के नागरिक जानते है कि सभी आंतरिक गलियों एवं छोटी सड़कों की सफाई दैनिक आधार पर या नियमित होती है और वहां से कूड़ा भी रोजाना हटाया जाता है जबकि इन अंदर की छोटी सड़कों पर भारी मात्रा में कूड़ा घरों या व्यापारिक संस्थानों से बाहर डाला जाता है। भाजपा महामंत्रियों ने कहा कि तीनों नगर निगम गंभीर आर्थिक विषमताओं में काम कर रहे हैं और उनके स्वतः अर्जित राजस्व कर्मचारी वेतन भुगतान के लिए भी पूरे नहीं पड़ते हैं।

भाजपा महामंत्रियों ने कहा कि हम मांग करते हैं कि अरविन्द केजरीवाल सरकार दिल्ली की जनता को बतायें कि पिछले दो वर्ष में कूड़े के निपटान एवं वेस्ट मैनेजमेन्ट नीति बनाने पर क्या काम किया है और स्वीकार करने के बाद भी सरकार ने चौथे दिल्ली वित्त आयोग की सिफारिशों के अनुसार निगमों को फंड देना क्यों प्रारम्भ नहीं किया है।