featured यूपी राज्य हेल्थ

बाउंसर की निगरानी में रहेंगे एमबीबीएस छात्र

Untitled 26 बाउंसर की निगरानी में रहेंगे एमबीबीएस छात्र
लखनऊ।केजीएमयू और लोहिया संस्थान में रैगिंग रोकने की कवायद तेज कर दी गई है। एंटी रैगिंग टीमें गठित कर दी गई है। केजीएमयू में बाउंसर के घेरे में एमबीबीएस छात्र हॉस्टल से क्लास जाएंगे। क्लास खत्म होने के बाद बाउंसर की देखरेख में हॉस्टल पहुंचाए जाएंगे। मेडिकल संस्थानों में नए शैक्षिक सत्र शुरू करने की तैयारियां शुरू हो गई हैं। केजीएमयू में एमबीबीएस की 250 सीटें हैं। बीडीएस की 70 सीटें हैं। वहीं लोहिया संस्थान में एमबीबीएस की 200 सीटें हैं। दोनों संस्थानों में रैगिंग से बचाव का खाका तैयार कर लिया गया है।
सीसीटीवी कैमरों से होगी निगरानी
रैगिंग से बचाव के लिए के लिए बाउंसर तैनात किए जाएंगे। वहीं पुरुष व महिला गार्ड भी तैनात किए जाएंगे। केजीएमयू प्रवक्ता डॉ. सुधीर सिंह के मुताबिक हॉस्टल से लेकर क्लास तक सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। छात्रों की प्रत्येक गतिविधियों की निगरानी आसानी से की जा सकेगी। एंटी रैगिंग सेल के टोल फ्री नंबर, संस्थान के हेल्पलाइन नंबर, ई-मेल पर छात्र रैगिंग संबंधी परेशानी साझा कर सकेंगे। जगह-जगह हेल्पलाइन नम्बर संबंधी पोस्टर लगाए गए हैं।
रैगिंग की फोन पर शिकायत करें
लोहिया संस्थान में मुख्य परिसर में बहुमंजिला भवन में नए छात्रों को रखा जाएगा। वहीं सीनियर छात्रों को परिसर से दूर रखा जाएगा। आवास-विकास के फ्लैट में सीनियर छात्रों को रखा जाएगा। हॉस्टल की गैलरी में सीसीटीवी लगा दिए गए हैं। प्रवक्ता डॉ. श्रीकेश सिंह के मुताबिक प्रॉक्टर, प्रोवोस्ट, वार्डन की टीम बना दी गई है। छात्र दिन में गार्ड की निगरानी में हॉस्टल से एकेडमिक ब्लॉक में क्लास के लिए जाएंगे। वहीं रात में रैगिंग का खतरा रहता है। ऐसे में शाम पांच से आठ, 10 बजे व 12 बजे तक टीम तीन बार हॉस्टल का औचक निरीक्षण करेगी। रैगिंग की शिकायत छात्र निदेशक, सीएमएस, यूजी सेल के चैयरमैन और वार्डन के मोबाइल नम्बर पर भी कर सकते हैं।

Related posts

फ्लाइट में बच्चे के रोने पर ब्रिटिश एयरवेज ने भारतीय IES अधिकारी के परिवार को प्लेन से उतारा

rituraj

बॉलीवुड डिवाज का ट्रेंडी फैशन, शादी पार्टी के लिए आप भी कर सकते हैं ट्राई

mohini kushwaha

Health tips: करेला खाने से कई बीमारियां होंगी दूर, जनिए कितना है लाभदायक ?

Saurabh