मासिक शिवरात्रि पर ऐसे करें पूजा, मिलेगा लाभ

नई दिल्ली। – महाशिवरात्रि  के बारें में तो आप सभी को पता होगा। जिस पर हम भगवान शिव  को खुश करने के लिए तमाम तरह कील पूजा और व्रत रखते हैं जिससे बाबा भोले प्रसन्न हो सकें, पर आज हम आपको बताने जा रहे हैं उस शिव रात्रि के बारे में जो हर महीने आती है। जी हा… जैसे महाशिवरात्रि साल में एक बार आती है तो उसी तरह से मासिक शिवरात्रि हर महींने आती है जिसे कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी  को मनाया जाता है। इस बार मासिक शिव रात्रि 11जुलाई 2018 को पड़ रही है और इस बार इस शिव रात्रि का मुहूर्त मध्य रात्रि यानि की आधी रात को पड़ रहा है। जैसे महाशिवरात्रि  पर पूजा करते समय कई बातों का ध्यान रखा जाता है ठीक उसी तरह मासिक शिव रात्रि के दौरान भी कई बातों का ध्यान रखा जाता है।

मासिक शिवरात्रि
मासिक शिवरात्रि
कैसे करें पूजा:-

संध्या काल में शिवलिंग का पंचोपचार पूजन करें।
घी का दीपक जलाएं।
घी का दीपक जलाएं।
केसर युक्त चावल की खीर का भोग लगाएं।
ॐ नमः शिवाय मंत्र का जप करें।
रोग से पीड़ित व्यक्ति कुशोदक से रुद्राभिषेक कराएं।
महामृत्युंजय मंत्र का जप करें।

मासिक शिव रात्रि के दौरा आपव कई चीजों का ध्यान रखना चाहिए जैसे:-
  • शिवलिंग पे तुलसी का पत्ता मत चढ़ाएं, इससे भोलेनाथ रुष्‍ट हो जाते हैं।
  • इस दिन अन्न ग्रहण मत करें। महादेव को प्रसन्‍न करने के लिए जरूरी है कि सादा आहार ल‍िया जाए।
  • किसी की निंदा मत करें। ऐसे शब्‍द बोलने वाले कभी भी भगवान श‍िव के प्र‍िय नहीं बनते हैं।
  • असत्य मत बोलें। झूठ बोलने वालों की पूजा भगवान श‍िव कभी स्‍वीकार नहीं करते हैं।
  • अर्ध रात्रि तक मत सोएं। जल्‍दी उठकर श‍िव पूजा करें, भोलेनाथ आपके सभी कष्‍ट हर लेंगे।
  • मन, वचन और कर्म से किसी जीव को कष्ट मत दीजिए। दयालु व्‍यक्‍ति की पूजा महादेव के दरबार में जल्‍दी सुनी जाती है।
  • तिल मत चढ़ाएं। भगवान श‍िव को इसका भोग नहीं लगाना चाह‍िए।
  • शिवलिंग पर सिंदूर मत चढ़ाएं। भगवान श‍िव को सिंदूर चढ़ाना सही नहीं माना जाता है।
  • स्नान करने के बाद तुरंत शिव पूजा करें। जल या कुछ फलाहार प्रातः शिव पूजा के बाद ही ग्रहण करें।
  • पूजा का आसन चालक पदार्थ का न हो। कुश कस आसान श्रेष्ठ है।
  • शिवमंदिर पर चढ़ा जल जिस जगह से बाहर हो रहा है, उसको लांघे नहीं।

इस दिन रुद्राभिषेक कराना बहुत फलदायी बताया जाता है। अगर आप मासिक शिवरात्रि का व्रत रख रहे हैं तो इस द‍िन फलाहार रहना चाहिए। इस व्रत का पारण अगले दिन होगा। वैसे इस दिन शिव पूजा का अनंत फल मिलता है। तो अगर आप मासिक शिवरात्रि का व्रत रखते हैं तो इन चीजों का ध्यान रखें।

शिव की पूजा से होगा असंभव काम पूरा
देशभर में महाशिवरात्रि की धूम, इस बार बन रहा ये खास संयोग